हिमाचल प्रदेश में श्रीखंड महादेव की ऐतिहासिक यात्रा सोमवार से शुरू हो गई। बेहद क’ठिन मानी जाने वाली इस यात्रा के लिए इस साल श्रद्धालु मोबाइल ऐप से भी पंजीकरण करवा सकेंगे।

सोमवार सुबह सिंहगाड़ से यात्रा के लिए 500 श्रद्धालुओं का पहला जत्था निकला। 18,570 फिट की उंचाई पर स्थित श्रीखंड चोटी पर बाबा भोलेनाथ के दर्शन के लिए 35 किलोमीटर का ख’तरनाक रास्ता पैदल चलना होता है साथ ही 8 ग्लेशियर पार करने होते हैं। श्रद्धालुओं का स्वास्थ्य परीक्षण के बाद उन्हें यात्रा की परमिशन दी जाती है।


यात्रा पर जाने से पहले बेसकैंप पर श्रद्धालुओं को पंजीकरण करवाना होता है। यात्रा के रास्ते विशेष मेडिकल कैंप बनाए गए हैं। जहां घायल या फिर यात्रा के दौरान बीमार हुए लोगों का इलाज होगा। बेसकैंप में ही रेस्क्यू की टीमें, पुलिस व होमगार्ड के जवान भी होंगे।

पिछले 4 साल में श्रीखंड की यात्रा के दौरान 4 श्रद्धालुओं की जान जा चुकी है। इन मौतों के पीछे ह्रदय गति रुकने और ऑक्सीजन की कमी प्रमुख कारण रही। एसडीएम चेत सिंह ने श्रद्धालुओं से आग्रह किया है कि बिना मेडिकल चेकअप के यात्रा पर न जाएं।

Sources:-Live News

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here