नालंदा और मुजफ्फरपुर में 40 एकड़ में बनेगा खेलगांव, बनेंगे अंतर्राष्ट्रीय स्पोर्टस काम्पलेक्स

Other Sports

उत्तर बिहार में मुजफ्फरपुर और दक्षिण बिहार में नालंदा जिले में आधुनिक स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स बनेगा। डीएम धर्मेंद्र सिंह ने कहा कि खेल विभाग ने इसके लिए 40 एकड़ जमीन मांगी है।

इस खेल गांव में क्रिकेट, फुटबॉल से लेकर सभी प्रकार के आउटडोर इनडोर गेम्स होंगे। स्टेडियम अंतरराष्ट्रीय स्तर के मुकाबलों के लायक होगा। अभी शहर के बीच में होने के कारण नेहरू स्टेडियम के अलावे स्पोर्ट्स कॉॅम्प्लेक्स बनाने का निर्णय लिया गया है।स्थल चयन में पहुंच मार्ग और आवागमन की बेहतर सुविधा का ध्यान रखा जाएगा।

इसलिए शहर के बाहरी हिस्से में आवश्यकता के अनुसार भू-अर्जन, दान या किसी संस्थान की जमीन लेने की भी पहल होगी। सरकारी निर्देश के अनुसार जल्द जमीन उपलब्ध कराने की प्रशासनिक पहल होगी, ताकि इसी वित्तीय वर्ष में निर्माण का कार्य शुरू हो सके

एनएच-77 पर तुर्की से गायघाट फोरलेन को जोड़ेगी बायपास
पटना-मुजफ्फरपुर के बीच एनएच 77 पर तुर्की पास से बायपास बनेगी। यह एनएच 28 को और पूसा रोड से हो कर एनएच 57 को गायघाट के पास जोड़ेगी। इससे पटना से समस्तीपुर, दरभंगा और मधुबनी आने-जाने वालों को मुजफ्फरपुर शहर से हो कर नहीं आना-जाना पड़ेगा।

डीएम धर्मेंद्र सिंह ने कहा कि गायघाट प्रखंड स्थित टोल प्लाजा के आगे से इस रोड के लिए कवायद शुरू हो गई है। यह सड़क मुजफ्फरपुर-पूसा रोड में मुशहरी से आगे मिलते हुए रघुनाथपुर मधुबन से काजी इंडा के बीच एनएच-28 में मिल और आगे तुर्की के निकट एनएच-77 में मिलेगी। इसके लिए आवश्यकता के अनुसार भू-अर्जन किया जाएगा।

कुढ़नी के चढुंआ में मिली जमीन, बनेगा ईएसआई अस्पताल
राज्य में पटना के बाद जिले के कुढ़नी प्रखंड के चढुंआ में ईएसआई अस्पताल बनेगा डीएम ने कहा कि तुर्की स्थित प्रखंड मुख्यालय से एक किलोमीटर की दूरी पर तीन एकड़ जमीन उपलब्ध कराई गई है।

सोमवार को ईएसआई की राज्य स्तरीय टीम निर्माण स्थल का निरीक्षण भी कर चुकी है। टीम ने जल्द ही अस्पताल निर्माण कार्य शुरू करने की जानकारी दी है।

इस अस्पताल के बन जाने से मुजफ्फरपुर समेत उत्तर बिहार के सभी जिलों में सरकारी और निजी क्षेत्रों में काम करने वाले कर्मचारियों और उनके परिजनों का इलाज करा सकेंगे।

अब तक ईएसआई में इलाज के नाम पर कर्मचारियों को केवल रेफर किया जाता है। नए अस्पताल के निर्माण से उत्तर बिहार के 20 लाख से अधिक कर्मचारियों को लाभ मिलेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.