स्वाद के साथ मसाले आपकी ज़िन्दगी भी बदल सकते हैं, जानें मसालों का ग्रहों से क्या है सम्बन्ध

आस्था

हमारे देश भारत में मसालों का सेवन काफी मात्रा में किया जाता है. इन मसालों का अपना अलग ही स्वाद होता है. यह मसाले खाने के स्वाद को दोगुना कर देते हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं स्वाद बढ़ाने के साथ ही भारतीय रसोई में मिलने वाले मसाले सेहत के लिए भी अच्छे होते है, और साथ में उन के सेवन से हमारे ग्रह भी अच्छे होते है. मसाले वास्तु के मुताबिक भी काफी फायदेमंद होते हैं. ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, खाने में प्रयोग किए जाने वाले मसाले ना सिर्फ स्वाद बढ़ाते हैं बल्कि इनका हमारे जीवन पर काफी प्रभाव पड़ता है. यह मसाले हमारे ग्रह-नक्षत्रों को भी प्रभावित करते हैं. दरअसल जितने भी तत्व पृथ्वी पर पाए जाते हैं और उन तत्वों से जो भी चीज बनती हैं, उनका संबंध ग्रह-नक्षत्र से जरूर होता है और इन्हीं के इर्दगिर्द हमारे जीवन का तानाबाना बुना जाता है.

इस मसालों से जुड़े कुछ उपाय करने से ग्रह दोष को दूर कर किस्मत को बदला जा सकता है. आइए जानते हैं इन मसालों के बारे में.

दालचीनी– मंगल ओर शुक्र ग्रह को ठीक करती है. अगर किसी का मंगल और शुक्र कुपित है ,तो थोड़ी सी दालचीनी को शहद में मिलाकर ताज़े पानी के साथ ले , इस से आप की शरीर में शक्ति बढ़ेगी और सर्दियों में कफ की समस्या कम परेशान करती है.

नमक– खाने का स्वाद बढ़ाने के लिए नमक बहुत महत्वपूर्ण है. नमक का संबंध सूर्य से माना जाता है. नमक आप जल में मिलाकर सूर्य को देते हैं तो यह आपको कर्ज से मुक्ति का रास्ता निकालता है तो वहीं इसका सेवन कुंडली में सूर्य की स्थिति मजबूत करता है और उसके अशुभ प्रभाव को दूर करने का काम करता है.

जीरा– जीरा का संबंध राहु-केतु ग्रह से होता है. कुंडली में अगर राहु-केतु ग्रह अशांत होने से परेशानियों का सामना करना पड़ता है. ऐसे में जिन लोगों की राहु-केतु की बुरी दशा चल रही है उन्हें शनिवार के दिन जीरा दान करना चाहिए. जीरा का निरंतर सेवन करना स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा माना जाता है. राहु-केतु के शुभ फल की प्राप्ति के लिए मंगलवार के दिन दही में जीरा डालकर प्रयोग करें तो जीवन में सुख-शांति के साथ समृद्धि भी प्राप्त होती है. साथ ही भाग्य भी साथ देता है.

जौ– जौ के प्रयोग से सूर्य ग्रह और गुरु ग्रह ठीक होता है. जौं के आटे की रोटी खाने से पथरी कभी नहीं होती है.

लाल मिर्च– लाल मिर्च नवग्रहों के सेनापित मंगल ग्रह से संबंधित है. जिनकी कुंडली में मंगल की स्थिति सही नहीं है तो उनको लाल मिर्च का दान करना चाहिए. मंगल जातक को साहसी बनाता है और इसके शुभ प्रभाव से शत्रुओं पर विजय प्राप्त होती है. इसका प्रभाव पारिवारिक जीवन पर भी पड़ता है। वहीं कुंडली में अगर मंगल सही नहीं है तो त्वचा संबंधित कई रोग हो सकते हैं. लाल मिर्च कुंडली में मंगल की स्थिति को मजबूत करता है.

लौंग और काली मिर्च– लौंग और काली मिर्च का संबंध शनि ग्रह से होता है. इनके उपयोग से आप कुंडली में शनि ग्रह को मजबूत कर सकते हैं. इसके लिए शनिवार के दिन सरसों तेल में लौंग या काली मिर्च डालकर दीपक जलाएं. इससे शनि ग्रह के दुष्प्रभाव से मुक्ति मिलेगी.

हींग– हींग का संबंध बुद्ध और बृहस्पति ग्रह से माना जाता है. ऐसे में दिन के खाने में हींग खाने से मन शांत रहता है. इसके साथ ही बुद्ध दोष दूर होने में मदद मिलती है.

सौंफ– सौंफ का संबंध शुक्र व मंगल ग्रह से होता है. वास्तु के अनुसार, सौंफ और मिश्री को एक साथ मिलाकर खाने से कुंडली में शुक्र ग्रह मजबूत होता है.

हरी इलायची– इसके प्रयोग से बुध ग्रह मजबूत होता है. अगर किसी को दूध पचाने में परेशानी होती है. तो हरी इलायची उस में पका कर फिर दूध का सेवन करें इस से ऐसी परेशानी नहीं होगी. यह उन लोगो के लिए उपकारी है की जिन को दूध अपनी सेहत बनाए रखने या कैल्सियम के लिए दूध को पीना पड़ता है पर उसको पीकर पचाने में समस्या आती है.

हल्दी– हल्दी कई मायनों में गुणकारी होती है. हल्दी का संबंध बृहस्पति ग्रह से माना जाता है. ऐसे में कुंडली में बृहस्पति मजबूत करने से लिए जेब में हल्दी की गांठ या रूमाल में चुटकीभर हल्दी बांधकर रखें. इसके सेवन से व्यक्ति भाग्यशाली होता है और कई क्षेत्रों में लाभ प्राप्त करता है. माना जाता है की अगर कुंडली में बृहस्पति ग्रह की स्थिति सही नहीं है तो जीवन में कई असफलताओं का सामना करना पड़ता है.

धनिया– धनिया ग्रहों के राजकुमार बुध से संबंधित होता है. धनिया के उपाय करने से कुंडली में बुध की स्थिति मजबूत होती है और घर में बरकत का रास्ता खुलता है. बुध की मजबूत स्थिति से व्यक्ति बौद्धिक रूप से धनी और कुशल वक्ता बनाता है. साथ ही धन के मामले में भी बुध का साथ मिलता है. वहीं इसके अशुभ प्रभाव से जीवन में दरिद्रता आती है और कारोबार में हानि का सामना करना पड़ता है. साथ ही मानसिक रूप से परेशानी आती है.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.