बोले उपराष्ट्रपति नायडू : कृषि क्षेत्र पर ध्यान दे सरकार, नहीं तो लोग खेती करना छोड़ देंगे

राष्ट्रीय खबरें

पटना: आज 2 सितंबर को भारत के उपराष्ट्रपति के रूप में वेंकैया नायडू ने एक साल पूरे कर लिए. इस दौरान उनकी लिखी किताब का लोकार्पण पीएम मोदी ने किया. ‘मूविंग ऑन मूविंग फॉरवर्डः ए ईयर इन ऑफिस’ के अनावरण के समय कार्यक्रम में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, एचडी देवगौड़ा, लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन और केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली समेत अन्य लोग और मेहमान उपस्थित थे. इस कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने वित्त मंत्री अरुण जेटली पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि मैं अभी जो कुछ कहूँगा शायद वो सुन कर वित्त मंत्री को अच्छा नहीं लगेगा.

वेंकैया नायडू ने यह बातें अरुण जेटली के सामने ही कही. जेटली वहीं बैठे हुए थे. उपराष्ट्रपति ने इस दौरान कहा, “कृषि क्षेत्र को लगातार सहारा दिए जाने की जरूरत है. वित्त मंत्री भी यहां हैं. हो सकता है कि उन्हें मेरी बात अच्छी न लगे, क्योंकि उन्हें सबका ख्याल रखना पड़ता है. मगर आगामी दिनों में कृषि क्षेत्र के प्रति अधिक ध्यान देना पड़ेगा. वरना लोग इसमें लाभ न होने के कारण खेती-किसानी छोड़ने लगेंगे.”

नायडू आगे बोले, “संसद की कार्यशैली को लेकर मैं थोड़ा नाखुश हूं. क्योंकि वह उस तरह काम नहीं कर रही, जैसे उसे करना चाहिए. बाकी चीजों में हम आगे बढ़ रहे हैं. विश्व बैंक, एशियन डेवलपमेंट बैंक और वर्ल्ड इकनॉमिक फोरम जो भी रेटिंग दे रहे हैं, वे अच्छी हैं. आर्थिक मोर्चे पर जो कुछ भी हो रहा है, वह हर भारतीय के लिए गर्व की बात है.”

वहीं पीएम मोदी ने अपने संबोधन में एक वाकया को याद किया जब अटल बिहारी वाजपेयी पीएम थे. उन्होंने वेंकैया नायडू से कहा कि आप अपनी पसंद का मंताराली चुन लें. तो नायडू ने उस वक़्त ग्रामीण विकास मंत्रालय चुना था. पीएम मोदी ने कहा कि वेंकैया नायडू दिल से किसान हैं.

Source: Live Cities News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *