महाकालेश्वर मंदिर में आज (गुरुवार) दो त्योहार एक साथ मनाए गए. दरअसल आज स्वतंत्रता दिवस और राखी का पर्व दोनों एक एक ही दिन होने की वजह से जहां एक तरफ श्रद्धालुओं में देश प्रेम का जज्बा दिखा तो दूसरी तरफ बाबा महाकाल को भाई मानाने वाली बहने महकाल को राखी बांधने अल सुबह मंदिर पंहुची.

स्वतंत्रता दिवस पर आज महाकाल मंदिर मे सुबह होने वाली भस्म आरती में बाबा महाकाल का मुकुट भी तिरंगे के रंग में सजा दिखा तो वहीं राखी के पर्व पर भस्म आरती में ही सुबह 4 बजे महाकाल को राखी बांधी गई. साथ ही सवा लाख लड्डुओं का भोग भी बाबा महाकाल को लगाया गया.

विश्व प्रसिद्ध महाकाल मंदिर में आज दो बड़े त्योहारों की शुरुआत हुई. आज स्वतंत्रता दिवस और राखी दोनों त्योहार एक साथ एक ही दिन होने के चलते बड़ी संख्या में श्रद्धालु महाकाल मंदिर पंहुचे थे. आज अल सुबह ब्रह्म मुर्हत में 2 बजे शुरू हुई भस्म आरती में बाबा महाकाल को जल अर्पित करने के बाद पंचामृत अभिषेक पूजन किया गया. स्वतंत्रता दिवस होने के चलते पहले महाकाल का तिरंगे के रूप में शृंगार किया गया. जिसके बाद तीन रंगो की पगड़ी बाबा को पहनाई गई.

दूसरी ओर राखी का पर्व होने के चलते बाबा महाकाल को राखी बांधी गई. मान्यता है कि देश में हिन्दू रीती रिवाज से मनाए जाने वाले सभी त्योहारों की शुरुआत महाकाल मंदिर से ही होती है. राखी पर आज सवा लाख लड्डुओं का भोग भी महाकाल को लगाया गया. जिसके बाद मंदिर में आने वाले श्रद्धालुओं में लड्डूओ का वितरण कर दिया गया. महाकाल में दूर दूर से आए श्रद्धालुओं ने दो त्योहारों पर महाकाल के दर्शन कर अभिभूत नजर आए.

Sources:-Zee News

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here