sonepur cultural village

सोनपुर का होगा विकास, हरिहर क्षेत्र को बनाया जायेगा संस्कृति ग्राम

खबरें बिहार की

डाक बंगला मैदान में आयोजित कुश्ती प्रतियोगिता का फाइनल रविवार को हुआ। सबसे पहले बिहार किशोर प्रतियोगिता शुरू हुई। सारण प्रमंडल के गोपालगंज से दीपक सहनी तथा भोजपुर के राहुल कुमार के बीच मुकाबले में दीपक सहनी ने राहुल को परास्त कर दिया। इसके बाद बिहार कुमार प्रतियोगिता हुई।

इसमें बक्सर के अविनाश कुमार तथा गोपालगंज के अब्दुल नट के बीच कुश्ती के दांव-पेच का शानदार प्रदर्शन किया गया। अंतत: अखिलेश ने अब्दुल को पटकनी दे दी। इसके बाद बिहार केसरी प्रतियोगिता में बक्सर के पहलवान कृष्ण कुमार यादव तथा बेतिया के पहलवान लुकेश कुमार के बीच जोर आजमाइश हुई। कृष्ण कुमार के लुकेश को पटकनी देते ही रेफरी द्वारा निर्णय देते ही दर्शकों ने शोर मचाना शुरू कर दिया।

इसके बाद निर्णायक मंडल ने कुश्ती प्रतियोगिता के वीडियो को पुन: बारीकी से देखने के बाद निर्णय कृष्ण कुमार यादव के पक्ष में सुनाया। आरंभ में सारण के डीएम हरिहर प्रसाद ने पहलवानों का उत्साहवर्धन किया। प्रतियोगिता के बाद सारण के डीएम श्री प्रसाद ने बिहार केसरी श्री यादव को 11000 का चेक तथा ट्रॉफी प्रदान की। उप विजेता लुकेश पहलवान को 7000 का चेक दिया गया।

sonepur cultural village

इसी क्रम में बिहार कुमार अविनाश को 7000 का चेक और ट्रॉफी तथा अब्दुल नट को 5000 का चेक तथा ट्रॉफी प्रदान किया गया। बिहार किशोर प्रतियोगिता में विजेता का पुरस्कार दीपक साहनी को 5000 तथा ट्रॉफी और राहुल कुमार को 3000 का चेक और ट्रॉफी प्रदान की गई।संवाद सहयोगी, सोनपुर : हरिहरक्षेत्र सोनपुर मेले में रविवार की शाम गत कई वर्षो से बंद रामायण मंचन का एक बार फिर भव्य आगाज हुआ।

पर्यटन मंत्री प्रमोद कुमार, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय, विधायक शत्रुघ्न तिवारी, डीजी सह मंदिर न्यास समिति के अध्यक्ष गुप्तेश्वर पांडेय, सारण डीएम हरिहर प्रसाद और मौनी बाबा ने दीप प्रज्वलित कर रामायण मंचन का शुभारंभ किया। पर्यटन मंत्री ने कहा कि नालंदा की तर्ज पर सोनपुर को भी संस्कृति ग्राम बनाया जाएगा। उन्होंने सारण डीएम को रामायण मंचन स्थल की चहारदीवारी कराने का भी निर्देश दिया।

sonpur mela tradition

पर्यटन मंत्री ने कहा भारत ही ऐसा देश है जिसके पास रामायण, भगवान श्रीराम तथा माता जानकी के साथ सांस्कृतिक विरासत की धरोहर है। उन्होंने अपनी इंग्लैंड यात्र का जिक्र करते हुए कहा कि वहां किसी को किसी से कोई मतलब नहीं। जबकि हिंदुस्तान में आपसी व सामाजिक रिश्ते समाज के लिए प्रेरणास्नोत हैं। उन्होंने कहा कि सोनपुर का वैभव सदैव अमर रहेगा।

इसके पूर्व भाजपा के प्रांतीय अध्यक्ष नित्यानंद राय ने कहा कि रामायण के बिना समाज व परिवार की संपूर्णता की कल्पना नहीं की जा सकती। भगवान श्रीराम का शबरी के जूठे बेर खाना, सामाजिक समरसता के साथ जाति भेद मिटाने का संदेश देता है।

sonepur cultural village

इसी बीच उन्होंने कहा कि जो बिरादरी समाज से कटकर रहती है वह मिट्टी में मिल जाती है। स्वागत भाषण में डीजी गुप्तेश्वर पांडे ने कहा की बाबा हरिहर नाथ मंदिर सामाजिक धार्मिक व सांस्कृतिक जागरण के केंद्र के रूप में विकसित हो रहा है। समाज से सांस्कृतिक प्रदूषण खत्म करने का रामायण मंचन से बेहतर दूसरा सशक्त माध्यम नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.