बिक गया Flipkart, वॉलमार्ट ने 1040000000000 रुपये में खरीदा

ट्रेंडिंग

पटना: वालमार्ट ने देश की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी फ्लिपकार्ट की 77 प्रतिशत हिस्सेदारी करीब 16 अरब डॉलर (एक लाख पांच हजार 360 करोड़ रुपये) में खरीदने की घोषणा की। वालमार्ट का यह अब तक का सबसे बड़ा अधिग्रहण है। इस सौदे में 11 साल पुरानी फ्लिपकार्ट का कुल मूल्य 20.8 अरब डॉलर आंका गया है। वालमार्ट ने कहा कि उसने फ्लिपकार्ट की 77 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदी है।

फ्लिपकार्ट के कई प्रमुख निवेशक कंपनी में अपनी समूची हिस्सेदारी बेचेंगे. जापान का सॉफ्टबैंक समूह और टाइगर ग्लोबल मैनेजमेंट दोनों फ्लिपकार्ट में अपनी समूची करीब 20-20 फीसदी की हिस्सेदारी बेचेंगे। अमेरिकी कंपनी वॉलमार्ट की ऑनलाइन स्पेस में ये सबसे बड़ी खरीदारी है और इसे इस अधिग्रहण के जरिए भारत में ऑनलाइन कारोबार में अपना सिक्का जमाने की कंपनी की तैयारी है।

बताया जा रहा है कि डील के बाद भी फ्लिपकार्ट अपने दो फाउंडर्स में से एक बिन्नी बंसल के नेतृत्व में ही संचालित होगा हालांकि दूसरे फाउंडर सचिन बंसल अपनी 5.5 फीसदी की हिस्सेदारी वॉलमार्ट को बेचकर कंपनी से बाहर होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.