सोशल मीडिया: राजनीति के हीरो बने CM नीतीश, जाहिर हुआ तेज प्रताप का दुख

खबरें बिहार की

पटना: चुनाव के पहले बिहार में राजनीतिक हलचल है। कांग्रेस को नीतीश कुमार खूब भा रहे हैं तो नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव और उनके भाई तेज प्रताप यादव उनके साथ आने की बात सुनकर ही बिदक जा रहे हैं। उधर, राजद के तेज प्रताप यादव ने भी पार्टी प परिवार में अपनी हैसियत को लेकर दुख को सार्वजनिक करते दिखे।

लालू परिवार व पार्टी में कलह उजागर

तेज प्रताप ने कुछ दिनों पहले भाई तेजस्‍वी यादव को गद्दी सौंपकर द्वारका चले जाने की बात कह सबको चौंका दिया था, तो वहीं एक फेसबुक पोस्ट पर अपने मन की व्यथा लिखकर विरोधियों को काफी कुछ कहने-सुनने का मौका दे दिया था। उन्होंने पोस्ट में लिखा था कि उनके बारे में क्या-क्या उल्टा-सीधा कहा जाता है। ये बात बताता हूं तो ये बात मेरी मम्मी (राबड़ी देवी) भी नहीं सुनतीं। इसके अलावा उन्होंने बहुत कुछ ऐसा लिखा, जिससे लालू परिवार में कलह की झांकी दिख गई।

tej pratap warning

हालांकि, बाद में तेज प्रताप ने अपने फेसबुक अकाउंट के हैक होने की बात कही और फेसबुक व ट्विटर पर पोस्‍ट किया कि दोस्तों, एक बार फिर नीतीश ने भाजपा के साथ मिलकर हमें तोडऩे की कोशिश की। मेरे फेसबुक आइडी को हैक कर लिया गया और एक पोस्ट करके हमें हमारे परिवार से तोडऩे का प्रयास किया गया। उनके इस ट्वीट पर यूजर्स ने जवाब दिया कि आपसे जब अपना फेसबुक अकाउंट नहीं संभल रहा तो आप स्वास्थ्य मंत्रालय कैसे संभाल रहे थे?

तेज प्रताप ने नीतीश के लिए लगाया नो एंट्री का बोर्ड

अगले ही दिन तेजप्रताप नीतीश कुमार के लिए नो एंट्री का पोस्टर लेकर राबड़ी आवास से मीडिया के सामने आए जिसपर लिखा था-नो एंट्री नीतीश चाचा। ये पोस्टर सोशल मीडिया पर वायरल हुआ। इसपर जदयू ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि सरकारी बंगले को अपना समझ रहे और नीतीश जी के लिए नो एंट्री का पोस्टर दिखा रहे। लेकिन उन्हें खुद ही पता नहीं इस बंगले में कितने दिन रहेंगे? यूजर्स ने भी उनके इस ट्वीट पर खुलकर अपनी प्रतिक्रिया दी।

फिलहाल राजनीति में नहीं आएंगी ऐश्‍वर्या

राजद के स्थापना दिवस समारोह के लिए तैयार किए गए पोस्टर पर पार्टी के सदस्यों के साथ ही तेज प्रताप की पत्नी ऐश्वर्या की तस्वीर भी दिखाई दी, जिसे लेकर खबर  फैल गई कि लालू की बहू भी अब राजनीति में कदम रखने जा रही हैं। इसपर जदयू ने जहां तंज कसे तो वहीं कांग्रेस ने इसकी सराहना की। स्थापना दिवस समारोह में पहुंचे तेजस्वी और तेज प्रताप ने इस खबर को सिरे से खारिज कर दिया और कहा कि वे अभी राजनीति में नहीं आएंगी। इस खबर पर सोशल मीडिया में भी कई तरह के कयास लगाए गए।

कांग्रेस को पसंद सीएम नीतीश, राजद को नफरत

कांग्रेस को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इतने पसंद हैं कि पार्टी के कई विधायकों ने उन्हें महागठबंधन का चेहरा बताकर वापस आने का निमंत्रण दिया। लेकिन, महागठबंधन में घटक दल राजद के नेता तेजस्वी ने पार्टी के स्थापना दिवस समारोह के मंच से ऐलान किया कि नीतीश के लिए यहां कोई जगह नहीं है।  तेजस्वी ने मंच से कांग्रेस को भी याद दिलाया कि नीतीश कुमार को पसंद करने वाले लोग तब कहां थे, जब उन्होंने गठबंधन तोड़कर भाजपा से हाथ मिला लिया था। उनके इस बयान को कुछ लोगों सराहा तो कुछ ने तंज कसे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.