एसकेएमसीएच में मिला जापानी इंसेफेलाइटिस का पहला मरीज, डॉक्टरों की कड़ी निगरानी में पीआईसीयू में चल रहा इलाज

जानकारी

मुजफ्फरपुर के एसकेएमसीएच में जापानी इंसेफेलाइटिस (जेई) का मरीज मिला है। नौ वर्षीय बच्चा सीतामढ़ी के डुमरा का रहनेवाला है। फिलहाल उसका पीआईसीयू में इलाज चल रहा है। इस साल एसकेएमसीएच में जेई का पहला केस सामने आया है। एसकेसीएमएच के शिशु रोड विभाग के वरीय चिकित्सक डॉ. गोपाल शंकर सहनी ने बताया कि रविवार को रिपोर्ट मिली है। जेई पॉजिटिव बच्चे का इलाज चल रहा है।

फिलहाल, वह खतरे से बाहर है। उसकी सतत निगरानी की जा रही है। पिछले साल पश्चिम चंपारण के एक बच्चे में जापानी इंसेफेलाइटिस मिला था। इलाज के क्रम में उसकी मौत हो गई थी। वहीं, बच्चे के परिजन ने बताया कि 31 मई को उसकी तबीयत बिगड़ गई। सीतामढ़ी में स्थानीय डॉक्टरों से इलाज कराया। सुधार नहीं होने पर दो जून को एसकेएमसीएच में भर्ती कराया गया।

परिजनों ने बताया कि बीमार होने के बाद से बच्चा बोलने व शारीरिक गतिविधि में अक्षम हो गया है। वह लगातार नींद में रहता है। इससे पहले तीन जून को मुजफ्फरपुर के अहियापुर की तीन वर्षीया बच्ची में एईएस की पुष्टि हुई थी। बीते एक माह में एईएस के नौ केस एसकेएमसीएच में आ चुके हैं। इनमें से कांटी की एक बच्ची की मौत इलाज के दौरान हो गई थी। शेष बच्चों की स्थिति में सुधार के बाद एसकेएमसीएच से डिस्चार्ज कर दिया गया।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.