सिवान के दो हजार किसानों से डेढ़ करोड़ रुपए वसूलेगी सरकार, कहीं आपने भी तो नहीं की ये गलती

खबरें बिहार की जानकारी

किसानों को बेहतर आजीविका प्रदान करने के लिए सरकार ने वित्तीय सहायता के उद्देश्य से प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना की शुरुआत की। योजन के तहत पंजीकृत किसानों के खाते में एक वर्ष में छह हजार की राशि अलग अलग किस्त में भेजी जाती है, ताकि उन्हें सरकार की तरफ से सम्मान मिले, लेकिन इस योजना का जिले के 1936 किसानों ने गलत तरीके से फायदा उठाया है। ये किसान स्वयं सरकार को आयकर देते हैं। ऐसे चिह्नित  किसानों से विभाग योजना की एक करोड़ 56 लाख राशि की वसूली करेगा। सिवान जिले में इसकी कवायद शुरू कर दी गई है।

इसके लिए चिह्नित सभी किसानों को नोटिस जारी किया जा रहा है तथा रुपए वापस नहीं करने पर उन सभी के ऊपर कानूनी कार्रवाई करने की जानकारी दी गई है। जिला कृषि विभाग कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले में कुल चार लाख 28 हजार 599 किसान पंजीकृत हैं। बताते चलें कि केंद्र सरकार ने 1 फरवरी 2019 को प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना की शुरुआत की थी।  योजना के तहत साल में तीन बार दो-दो हजार की दर से कुल छह हजार रुपये किसानों को दिए जा रहे हैं।

आंकड़ों पर गौर करें तो जिले में 1936 ऐसे किसान हैं, जो आयकर दाता होने के बावजूद भी प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का लाभ ले रहे हैं। इनमें 1897 किसानों के खाते में योजना के तहत मिलने वाली राशि की प्रथम किस्त भी भेजी जा चुकी है। जबकि 7822 किस्त आयकर दाता किसानों के खाते में भेजी जा चुकी है। सिवान के जिला कृषि पदाधिकारी जयराम पाल ने बताया कि जिले में ऐसे किसानों को चिह्नित किया गया है। इन किसानों से राशि वापसी करने को लेकर नोटिस भेजने का कार्य शुरू कर दिया गया है। योजना की राशि नहीं लौटाने पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.