SIT ने खोज लिया मैट्रिक की गायब कॉपियों को, कबाड़ी की दुकान पर बेची गई थीं, 2 अरेस्ट

खबरें बिहार की

पटना: गोपालगंज मैट्रिक की मूल्यांकित कॉपी गायब मामले में बड़ा खुलासा हुआ है. पुलिस ने हजियापुर में कबाड़ी दुकान में छापेमारी की जिसके बाद यह खुलासा हुआ है. पुलिस ने दुकानदार और दुकान में काम करने वाले को गिरफ्तार कर लिया है. दोनों ने आदेशपाल छठु सिंह पर आरोप लगाया है. आदेशपाल पर कॉपी बेचने का आरोप लगाया है. जिसके बाद छठु सिंह को भेजा गया है. वहीं कबाड़ी दुकान से भारी मात्रा में कॉपियां बरामद की गई है. पुलिस ने दोनों को व्यवहार न्यायालय में पेश किया है.

कैंपस में मिले कॉपियों के 200 खाली बैग

गोपालगंज के एसएस बालिका प्लस टू स्कूल के मूल्यांकन केंद्र से 42400 कॉपियों के गायब होने के मामले में पांचवें दिन एसआईटी की टीम ने पुलिस अधिकारियों के साथ स्कूल परिसर को खंगाला. इस दौरान पुलिस को स्कूल कैंपस की झाड़ियों से कॉपियों का 200 खाली बैग बरामद हुआ. इस पर अधिकारियों ने शिक्षकों से दोबारा पूछताछ शुरू की. प्राचार्य के करीबियों से भी पूछताछ चल रही है. पुलिस सूत्रों की मानें तो अब तक कांग्रेस नेता समेत प्राचार्य के 11 करीबियों से पूछताछ की जा चुकी है. पूछताछ के बाद एक-एक कर उन्हें छोड़ा जा रहा है.

खंगाला जा रहा है प्रिंसिपल के कॉल डिटेल को

पुलिस अधिकारियों का दावा है कि अब खुलासे के करीब टीम पहुंच चुकी है. प्राचार्य प्रमोद कुमार श्रीवास्तव के मोबाइल कॉल डिटेल के आधार पर पुलिस जांच में जुटी है. बिहार परीक्षा समिति के अलावा इस जांच पर वरीय अधिकारियों की भी नजर है. यही कारण है कि पहले ही स्कूल कैंपस को पूरी तरह से सील कर आम लोगों के आने- जाने पर प्रतिबंध लगाया जा चुका है. फिलहाल पुलिस के अधिकारी आन द रिकार्ड कुछ भी बताने से परहेज कर रहे हैं.

नवादा जिले की कॉपियां जांच के लिए पहुंची थीं गोपालगंज

बता दें कि नवादा जिले की मैट्रिक परीक्षा की कॉपियों की जांच के लिए एसएस बालिका प्लूस टू स्कूल कैंपस में मूल्यांकन केंद्र बनाया गया था. मूल्यांकन केंद्र कार्यालय के ठीक सामने है. 20 अप्रैल को कॉपियों को सुरक्षित रखने के बाद बिहार परीक्षा समिति जब टॉपर छात्रों की कॉपी लेने 15 जून को कर्मी प्रदीप कुमार और सुजीत कुमार को भेजा तो कॉपियों के गायब होने का मामला सामने आया.

Source: Muzaffarpur Now

Leave a Reply

Your email address will not be published.