सीमांचल सहित राज्य भर में बेहतर होगा मौसमी गतिविधियों का पूर्वानुमान, पूर्णिया में लगेगा दूसरा डाप्लर रडार सिस्टम

खबरें बिहार की जानकारी

सीमांचल सहित राज्य भर के मौसमी गतिविधियों को लेकर मौसम विज्ञान केंद्र के पूर्वानुमान की सटीकता बढ़ेगी। दरअसल, पूर्णिया में राज्य के दूसरा डाप्लर रडार सिस्टम स्थापित करने की प्रक्रिया पर काम शुरू हो गया है। अभी पटना मौसम विज्ञान केंद्र में एकमात्र रडार स्थापित है, जिसके भरोसे राज्य भर के मौसम का पूर्वानुमान किया जाता है।

पूर्णिया में डॉप्लर रडार स्थापित होने से बंगाल की खाड़ी समीप होने के कारण उस क्षेत्र की गतिविधियों का सही आकलन और बेहतर विश्लेषण हो सकेगा। बंगाल की खाड़ी क्षेत्र की हलचल पूरे राज्य के मौसमी सिस्टम को प्रभावित करती है। कोसी और सीमांचल क्षेत्र इससे सबसे ज्यादा प्रभावित होता है। अद्यतन डाप्लर रडार स्थापित होने से चक्रवाती तूफान और बारिश की गतिविधियों को लेकर समय रहते इसका सटीक पूर्वानुमान किया जा सकता है।

उपमुख्यमंत्री तारकिशोर ने की पहल
गुरुवार को निफ्ट पटना में आयोजित एक कार्यक्रम के बाद बातचीत के दौरान उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद ने कहा कि केंद्रीय मंत्री जितेन्द्र सिंह से पूर्णिया मौसम विज्ञान कार्यालय को अपग्रेड करने और डॉप्लर वेदर रडार स्थापित करने को लेकर सैद्धांतिक सहमति बनी है।

पिछले दिनों दिल्ली में विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी भूविज्ञान मंत्रालय के केंद्रीय मंत्री जितेन्द्र सिंह से शिष्टाचार मुलाकात कर उन्हें इस क्षेत्र की चुनौतियों और संभावनाओं को लेकर बातचीत की। उन्होंने बताया कि पूर्णिया में रेडियो साउंड और रेडियो विंड उपकरण भी लगाए जाएंगे ताकि तापमान और हवा से जुड़े आंकड़े एकत्रित कर मौसमविद उसका विश्लेषण आधारित पूर्वानुमान कर सकेंगे।

पटना सहित राज्य भर को इसका लाभ 
मौसम विज्ञान केंद्र पटना के निदेशक विवेक सिन्हा ने कहा कि यह राज्य के लिये बड़ी उपलब्धि होगी। मौसम विज्ञान केंद्र की हाल के दिनों में सांख्यिकीय गणनाओं से पूर्वानुमान में बेहतरी आई है। पूर्णिया में रडार स्थापित होने से सीमांचल के साथ साथ पटना सहित राज्य भर में मौसम सूचना नेटवर्क को बल मिलेगा। उन्होंने कहा कि सटीक पूर्वानुमान से आपदा प्रबंधन में काफी मदद मिलती है। इस पहल के जमीनी स्तर पर आने से पटना मौसम विज्ञान केंद्र के पूर्वानुमान की सटीकता और बढ़ेगी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.