श्रद्धा कपूर को हुआ डेंगू, तो रुकी ‘साइना’ की शूटिंग पढ़ें डेंगू से बचने के घरेलू उपाय

जानकारी

गौरतलब है कि बैडमिंटन स्टार खिलाड़ी साइना नेहवाल की बायोपिक में बॉलीवुड एक्‍ट्रेस श्रद्धा कपूर मुख्य भुमिका में हैं. हाल ही में श्रद्धा कपूर ने अपने इंस्टाग्राम पेज पर इस फिल्म का फर्स्ट लुक जारी किया था. जिसमें वे साइना जैसी ही लग रही हैं. इस फिल्म के लिए श्रद्धा कपूर कड़ी मेहनत कर रही थीं और उन्होंने इसके लिए खेल की बारीकियों को भी सीखा है. लेकिन उनकी इस मेहनत पर कुछ समय का विराम आ गया है. जी हां, श्रद्धा कपूर की तबियत अभी ठीक नहीं और इस फिल्म की शूटिंग भी इसी के चलते रोक दी गई है.

खबरों के अनुसार श्रद्धा की तबियत खराब होने के चलते 27 सितंबर से ही शूटिंग बंद कर दी गई है. हालिया जांच में यह बात सामने आई कि उन्हें डेंगू है. कुछ समय तक श्रद्धा आराम करेंगी और तब तक सायना के बचपन का हिस्सा मेकर्स शूट करेंगे. आपको बता दें कि हाल ही में फ़िल्म के लिए श्रद्धा का फ़र्स्ट लुक सामने आया था.

तो चलिए एक नजर डेंगू के घरेलू नुस्खे

असल में डेंगू संक्रमण से बचने के लिए कोई स्पेशल दवा नहीं है. पर इस दौरान सही से आराम और भरपूर पेय पदार्थ लेने की सलाह दी जाती है. डेंगू की चपेट में आने के बाद लोग इससे बचने के लिए कुछ प्राकृतिक नुस्खे अपना रहे हैं. हम आपको हेल्थ एक्सपर्ट और डॉक्टर की सलाह से कुछ ऐसे ही घरेलू और प्राकृतिक नुस्खे बता रहे हैं ताकी आप खुद को डेंगू के प्रकोप से बचा सकें.

– गिलोय का आयुर्वेद में बहुत महत्व है. यह मेटाबॉलिक रेट बढ़ाने, प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत रखने और बॉडी को इंफेक्शन से बचाने में मदद करती है. तो गिलोय के तनों को उबालकर पीने से आराम मिलता है.
– मेथी की पत्तियां बुखार कम करने में मददगार होती हैं. यह नींद भी अच्छी और गहरी बनाती हैं. मेथी की पत्तियों को पानी में भिगोकर उसके पानी को पीने से राहत मिलती है.
– हल्दी मेटाबालिज्म बढ़ाने में मददगार है. यह घाव भी जल्दी भर देती है. डेंगू के दौरान हल्दी को दूध में मिलाकर पीया जा सकता है.
– पपीते के पत्ते डेंगू के लिए बहुत ही चर्चित औषधि है. यह प्लेटलेट्स बढ़ाने में मददगार है. आप पपीते की पत्तियों को कूट कर खा सकते हैं या फिर इनका जूस पिया जा सकता है.
– तुलसी के पत्तों और दो ग्राम काली मिर्च को पानी में उबालकर पीना सेहत के लिए अच्छा रहता है. यह ड्रिंक आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाती है और एंटी-बैक्टीरियल तत्व के रूप में कार्य करती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *