राहुल गांधी अपनी विचित्र महत्वाकांक्षाओं के लिए हमेशा से मज़ाक के पात्र बनते रहते हैं। मेक इन इंडिया का भूत भाजपा से ज़्यादा इन्हीं पर सवार रहता है। यूपी चुनाव के दौरान अपनी रैली में राहुल गांधी ने कहा था, ‘जब ओबामा जी की पत्नी अमेरिका में अपनी रसोई पकाए, पतीलों को देखें तो कहे सुंदर पतीला है और उस पतीले पर लिखा हो मेड इन जौनपुर।’ इसपर सोशल मीडिया यूज़र्स ने उन्हें लंबे समय तक ट्रोल किया था। अब उस बयान का नया वर्जन आ चुका है।

इस बार राहुल गांधी केतली की जगह मोबाइल फोन की कंपनियां लगवाने वाले हैं। इस बार राहुल गांधी ने अपने भाषण में कहा कि “मैं वो दिन देखना चाहता हूँ जब चाइना का युवा सेल्फ़ी ले और फोन के पीछे देख सोचे कि ये चित्रकूट जगह कहाँ है? इसी तरह वो मेड इन मध्यप्रदेश और भेल के मोबाइल का ज़िक्र कर चुके हैं। इसपर भी वो काफ़ी ट्रोल किये है।

उन्हें ट्रोल करने वालों में अगला नंबर था मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का। उनके ट्वीटर हैंडल से ये ट्वीट किया गया है कि “‘मेड इन मध्यप्रदेश’ मोबाइल, ‘मेड इन चित्रकूट’ मोबाइल, BHEL के मोबाइल, पता नहीं राहुल जी और कहाँ-कहाँ मोबाइल बनाने की फ़ैक्टरी लगाने वाले है! राहुलजी आज भले कुछ भी बोल रहें हैं, पर सच्चाई ये है कि पिछले 70 सालों में ‘मेड इन अमेठी’ लिखा हुआ ‘पतली पिन का चार्जर’ भी नहीं बना पाए!”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here