साईं बाबा जन्मस्थान विवाद में अब विरोध प्रदर्शन शुरु हो गया है. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के बयान के खिलाफ ये प्रदर्शन हो रहा है. उद्धव ठाकरे ने कहा था कि परभणी का पाथरी गांव साईं बाबा की जन्मस्थली है, इसी का शिर्डी के लोग विरोध कर रहे हैं. श्रद्धालु सीएम ठाकरे के खिलाफ पोस्टर और बैनर लेकर परिक्रमा कर रहे हैं. लोग भारी संख्या में सड़को पर उतर गए हैं.   रविवार सुबह से ही पूरे इलाके में सभी दुकाने बंद हैं हालांकि मंदिर में श्रद्धालु दर्शन के लिए पहुंच रहे हैं. मंदिर के बाहर अच्छी-खासी तादाद देखी जा रही है. कतार में खड़े होकर श्रद्धालु अपनी बारी का इंतजार कर रहे हैं.  इधर, उद्धव ठाकरे ने साईंबाबा के जन्मभूमि को लेकर जन्में विवाद को सुलझाने के लिए लोगों से बातचीत करेंगे. शनिवार शाम को आधिकारिक विज्ञप्ति में इस बात की जानकारी दी गई.  

क्या है विवाद परभणी जिले का पाथरी, शिरडी से करीब 275 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है. सीएम उद्धव ठाकरे ने इस स्थान को साईं की जन्मभूमि बताते हुए इसके विकास के लिए 100 करोड़ रुपये देने की घोषणा की है. वहीं कई लोगों का मानना है कि साईं शिरडी आकर बसे थे. उनके जन्म की जानकारी किसी के पास नहीं है. साईं के बसने की वजह से शिरडी की पहचान उनसे हो गई.

बंद का बीजेपी विधायक ने किया समर्थन शिरडी स्थित श्री साईं बाबा संस्थान न्यास के मुख्य कार्यकारी अधिकारी दीपक मुगलीकर ने बताया कि बंद के बावजूद मंदिर खुला रहेगा. स्थानीय बीजेपी विधायक राधाकृष्ण विखे पाटिल ने कहा कि उन्होंने स्थानीय लोगों द्वारा बुलाए गए बंद का समर्थन किया है. उन्होंने कहा किमुख्यमंत्री को साईं बाबा का जन्मस्थान पाथरी होने संबंधी बयान को वापस लेना चाहिए.

Sources:-Prabhat Khabar

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here