शेर का बेटा हूं, न टुटूंगा न झुकूंगा: नीतीश पर चिराग का हमला- कुर्सी बचाने में व्यस्त हैं पलटू चाचा

कही-सुनी खबरें बिहार की राजनीति

लोजपा (रामविलास) के अध्यक्ष और स्व. रामविलास पासवान के बेटे चिराग पासवान ने एक बार फिर नीतीश कुमार को छेड़ दिया है। चिराग पासवान ने कहा है कि सत्ता के मद में चूर पलटू चाचा के नाम से मशहूर नीतीश कुमार ने बिहार को गर्त में पहुंचा दिया। राज्य में भ्रष्टाचार व जंगलराज चरम पर है। किंतु मुख्यमंत्री लगातार कुर्सी बचाने में जुटे हैं। उक्त बातें लोजपा (रामविलास) के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान ने अकोढ़ीगोला के प्रेमनगर हाईस्कूल मैदान में आयोजित सभा में कही।

उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार राज्य ही नहीं बल्कि, देशभर में पलटू चाचा के नाम से मशहूर हो गए हैं।  मुख्यमंत्री सालोंभर अपनी कुर्सी बचाने की फिराक में लगे रहते हैं। लोजपा नेता सह जमुई सांसद ने दावा किया कि वर्तमान में प्रदेश का बुरा हाल है। इस पर सीएम साहब का कोई ध्यान नहीं है। महागठबंधन सरकार में अपराधी बेलगाम हैं। उन्हें जो मन करता है वह कर डालते हैं। कोई रोकने टोकने वाला नहीं है क्योंकि सीएम सत्ता बचाने में ही व्यस्त हैं।

चिराग पासवान ने कहा कि वह बिहार फर्स्ट बिहारी फर्स्ट विजन के तहत राज्य में परिवर्तन चाहते हैं। नीतीश कुमार ने पहले लोजपा पार्टी को तोड़ने फिर घर को तोड़ने का काम किया। ताकि चिराग पासवान टूट जाए और डर जाए। लेकिन मैं शेर का बेटा हूं, न टुटूंगा न झुकूंगा। लोजपा नेता ने दावा किया कि दूसरे को तोड़ने वाले एक नंबर से तीन नंबर की पार्टी बन गए।  लोजपा संसदीय बोर्ड अध्यक्ष हुलास पांडेय ने कहा कि बिहार की जनता चिराग पासवान को उम्मीद की नजर से देख रही है। एक दिन बिहार फर्स्ट बिहारी का सपना साकार होगा।

पिछले बिहार विधानसभा चुनाव के समय से नीतीश कुमार और चिराग पासवान के बीच जुबानी जंग जारी है। दोनों एक दूसरे पर प्रहार करते रहते हैं। नीतीश कुमार आरोप लगाते हैं कि चिराग पासवान ने उनकी पार्टी को हराने के लिए काम किया। इसी वजह से उनकी पार्टी 43 पर सिमट गयी। मोकामा और गोपालगंज उपचुनाव के समय भी नीतीश कुमार ने चिराग पासवान पर निशाना साधा था।  बीजेपी कैंडिडेट के लिए वोट मांगने के चिराग के फैसले पर नीतीश कुमार ने कहा था कि पिछले विधानसभा चुनाव में चिराग पासवान ने उन्हीं सीटों पर उम्मीदवार खड़े किए थे जहां से जेडीयू लड़ रही थी। इससे साफ हो गया था की बीजेपी के साथ उनका अंदरुनी संबंध है। अब ये बात और स्पष्ट हो गई है। हमने बीजेपी को छोड़कर सही फैसला लिया है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.