sharad yadav and nitish kumar

शरद दिल्ली में विपक्ष को करेंगे एकजुट, नीतीश से अलग की अपनी राह

राजनीति

बिहार में  महागठबंधन में टूट से नाराज जदयू सांसद और पार्टी के पूर्व अध्यक्ष शरद यादव ने बगावत के रास्ते पर एक और कदम आगे बढ़ा दिया है।

आने वाली 19 अगस्त को पटना में होने वाली राष्ट्रीय कार्यकारिणी से दो दिन पहले 17 अगस्त को शरद दिल्ली में सांप्रदायिकता पर सेमिनार करेंगे। विपक्षी एकता दिखाने के लिए इस सेमिनार में कांग्रेस, एनसीपी, वाम दलों के साथ राजद को न्योता दिया है। अपनी पार्टी को इस आयोजन से दूर रखा है।

माना जा रहा है कि शरद सेमिनार में नीतीश के भाजपा के साथ जाने के फैसले के विरोध में बोलेंगे। इस बीच केरल, महाराष्ट्र, तमिलनाडु, आंध्र, तेलंगाना, बंगाल, गुजरात और राजस्थान के नेताओं ने भी भाजपा के साथ जाने का विरोध किया है।

उधर, शरद के समर्थक रहे पूर्व एमएलसी विजय वर्मा ने दावा किया है कि वे जदयू को तोड़ कर जल्द ही नई पार्टी बनाएंगे और महागठबंधन के साथ रहेंगे।




sharad yadav and nitish kumar




जदयू नेता केसी त्यागी ने कहा कि शरद यादव को जब कभी नीतीश कुमार और लालू यादव में से किसी एक को चुनना होगा तो वे नीतीश को ही चुनेंगे। आशा है कि वह जल्द निर्णय ले लेंगे। उन्होंने ही सबसे पहले लालू के भ्रष्टाचार का विरोध किया था।

प्रदेश जदयू के मुख्य प्रवक्ता संजय सिंह ने कहा कि शरद यादव हमारे वरिष्ठ नेता हैं। उनको किस बात की नाराजगी है? प्रवक्ता डॉ। अजय आलोक ने कहा कि मौसम बदलता रहता है। सावन के बाद भादो, बाद में शरद ऋतु आती है। वैसे ही शरद भी वापस आ जाएंगे।



Leave a Reply

Your email address will not be published.