शाम होते ही शाहकुंड बाजार में रोड पर सज जाती हैं सब्‍जी की दुकानें, हर दिन लगता है जाम

जानकारी

प्रखंड के शाहकुंड बाजार में आए दिन जाम की समस्या से आम नागरिकों को दो-चार होना पड़ता है। सड़क किनारे अतिक्रमण कर थोक व फुटकर दुकानदारी की जाती है। फिर जब बड़ी गाडिय़ां निकलती हैैं तो सड़कें संकरी हो जाती हैैं।

  • शाहकुंड बाजार की सड़कें शाम होते-होते हो जातीं संकरी
  • – शेड होने के बावजूद फुटकर सब्जी विक्रेताओं ने कर रखा है सड़क पर अतिक्रमण
  • जाम में फंसती हैैं एंबुलेंस और कभी-कभी लोग होते दुर्घटना के शिकार

बता दें कि इस समस्या को लेकर स्थानीय विधायक प्रो. ललित मंडल के द्वारा विधानसभा में भी मुद्दा उठाया गया है। इसके बावजूद प्रशासन जाम से लोगों को निजात दिलवाने के लिए साकारात्मक पहल नहीं कर रहा है। शाहकुंड से होकर जाने वाले ट्रक और बड़े वाहनों की आवाजाही होने के बाद लोगों को दुर्घटना की आशंका रहती है। साथ ही किसी आपातकाल में भी लोग फंसे ही रह जाते हैैं।

आम दिनों में शाम के वक्त सब्जी की फुटकर दुकानें सड़क किनारे खुलने से जाम लगता है। इसके अलावा पर्व के दिनों में तो दिन-दिनभर जाम लगा रहता है। बुधवार और रविवार को हाट लगती है तो फिर वही जाम का मंजर सामने आ जाता है। जिसका सभी लोग सामना करते हैैं।

सब्जी वालों के लिए बना है शेड

शाहकुंड बाजार में हाट के लिए शेड का निर्माण करवाया गया है। सब्जी विक्रेता वहां की बजाय सड़क किनारे ही सब्जी बेचते हैैं। इस अतिक्रमण से दुर्घटना होना और एंबुलेंस का फंसना आम बात है। इस समस्या को लेकर स्थानीय कसवा खेरही की पंसस चंदा कुमारी ने भी स्थाई स्टैंड की मांग को लेकर बीडीओ, सीओ को आवेदन दिया है। लेकिन यह आवेदन महज आवेदन ही रह गया। इसके लिए और कोई बड़ा प्रयास नहीं किया जा रहा है। और तो और लोग खुद ही सड़क पर गाड़ी खड़ी कर खरीदारी करने लगते हैैं।

हमारी तरफ से सब्जी विक्रेताओं को कई बार शेड में शिफ्ट किया गया। लेकिन वे फिर से सड़क किनारे आ जाते हैं। इसमें स्थानीय जनप्रतिनिधियों का सहयोग जरूरी है। अन्यथा जाम लगता रहेगा। -अनिल कुमार, शाहकुंड थानाध्यक्ष

Leave a Reply

Your email address will not be published.