shaheed soldier

बिहार का बेटा देश के लिए हुआ आतंकियों से लड़ते हुए शहीद, पूरे गाँव में शोक की लहर

अंतर्राष्‍ट्रीय खबरें

जम्मू-कश्मीर में बांदीपोरा के हाजिन इलाके में आतंकियों की ओर से की गई फायरिंग में इंडियन एयरफोर्स की गरुड़ फोर्स के 2 कमांडो शहीद हो गए। शहीद कमांडो में बिहार के भागलपुर के सुलतानगंज के उधाडीह के नीलेश कुमार नयन भी शामिल हैं।

नीलेश कुमार महज 30 वर्ष के थे। वह एयरफोर्स की गरुड़ फोर्स के कमांडो थें। देश के लिए आतंकवादियों से लड़ते हुए वे शहीद हो गए।

 

नीलेश की पत्नी का नाम मनीषा नयन हैं। उनकी 14 महीने की एक बेटी हैं। बताया जा रहा है उनकी मां हमेशा बीमार रहती हैं। गांववालों को जैसे ही पता चला की नीलेश कुमार देश के लिए आतंकवादियों के साथ लड़ते-लड़ते शहीद हो गए तो लोग उनके घर के पास जमा होने लगे। गांव के मुखिया भी नीलेश के घर पहुंचे हैं।

shaheed soldier गांव का माहौल गमजदा है। गांव के लोग नीलेश के परिवारवालों से संतावना दे रहे हैं। पिता का रो-रोकर बुरा हाल है। नीलेश कुमार के पिता ने बताया कि उन्हें सुबह 9:30 बजे बेटे के शहीद होने की खबर मिली

 

आपको बता दें कि जम्मू-कश्मीर में बांदीपोरा के हाजिन इलाके में आतंकियों की ओर से की गई फायरिंग में इंडियन एयरफोर्स की गरुड़ फोर्स के 2 कमांडो शहीद हो गए। जवाबी कार्रवाई में सिक्युरिटी फोर्स ने 2 आतंकियों को मार गिराया।

shaheed soldier

माना जा रहा है कि यह पहला मौका है, जब कश्मीर में आतंकियों से मुठभेड़ करते हुए गरुड़ फोर्स के कमांडो शहीद हुए हैं। इससे पहले 2 जनवरी 2016 में पंजाब में पाकिस्तान के बॉर्डर से सटे पठानकोट एयरबेस पर हुए आतंकी हमले में इसी फोर्स का एक कमांडो शहीद हुआ था।

दो दिन पहले ही घाटी के बारामूला में जैश-ए-मोहम्मद का कमांडर उमर खालिद मारा गया था। वह पिछले हफ्ते बीएसएफ कैम्प पर हुए हमले का मास्टरमाइंड था। उसी दिन शोपियां में लश्कर के तीन आतंकियों को ढेर किया गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.