Bihar में कल से खुल रहे हैं माध्यमिक स्कूल, इन निर्देशों के उल्लंघन पर हो सकती है कार्रवाई

खबरें बिहार की

Patna: करीब ग्यारह महीने के लंबे इंतजार के बाद बिहार के माध्यमिक विद्यालय कल से खुलने जा रहे हैं. बिहार में सभी तरह के स्कूल पिछले साल कोरोना से पहले होली की छुट्टी के लिए बंद थे, लेकिन जैसे ही होली की छुट्टी समाप्त हुई, कोरोना के कारण स्कूलों को बंद करना पड़ा. शिक्षा को पटरी पर लाने के मकसद से विभाग ने वैसे स्कूल जहां क्लास नौ से लेकर बारह तक की पढ़ाई होती है उसे खोलने के आदेश दिए हैं. 

शिक्षा विभाग (Bihar Education Department) ने कुछ दिन पहले ही स्कूलों को खोलने को लेकर दिशा निर्देश भी जारी किए थे. शिक्षा विभाग के निर्देश के बाद स्कूलों ने तैयारियां शुरू कर दी हैं और फिलहाल क्लासरूम को सैनिटाइज (Sanitise)किया जा रहा है. पटना के पुनाईचक स्थित कन्या मध्य विद्यालय में सफाई कर दी गई है और क्लासरूम को सेनिटाइज कराया जा रहा है.स्कूल के हेडमास्टर संजीव कुमार सिंह के मुताबिक, हम पूरी तरह से तैयार हैं और छात्रों में भी स्कूल आने के लिए बेचैनी है.

सिर्फ सरकारी ही नहीं बल्कि निजी स्कूलों में भी तैयारियां शुरू हो गई हैं. हालांकि, कुछ निजी विद्यालयों ने हफ्ते भर के इंतजार का फैसला किया है. कुछ निजी विद्यालयों में मैट्रिक की प्रो बोर्ड (pre-board exam) परीक्षा हो रही है तो कुछ विद्यालयों में परिवहन की दिक्कत है. वहीं कुछ स्कूलों में कल से क्लासरूम शुरू होने जा रहा है.

डीएवी (DAV PUblic School) राजवंशी नगर में सेनिटाइजेशन के साथ ही सफाई के दूसरे मानकों का ध्यान रखा गया है. स्कूल के प्रिंसिपल वीएस ओझा के मुताबिक, 8 फरवरी से औपचारिक रूप से क्लास शुरू होगी. क्योंकि स्कूल के साथ छात्रों को भी यहां आने का इंतजार है. 

आइए जानते हैं शिक्षा विभाग ने कल से शुरू हो रही क्लास के लिए क्या निर्देश दिए हैं. 

  • पचास फीसदी क्षमता के साथ स्कूल में पढ़ाई शुरू होगा. पहले पच्चास फीसदी एक दिन तो बाकी बचे पच्चास फीसदी छात्र दूसरे दिन आएंगे.
  • शिक्षक या कर्मचारी पूरी क्षमता के साथ स्कूल आएंगे.
  • सरकारी स्कूलों में जीविका के जरिए दो-दो मास्क बांटे जाएंगे.
  • डिजिटल थर्मामीटर, हैंडवॉश, सेनिटाइजर की व्यवस्था स्कूल की तरफ से की जाएगी.
  • छात्रों के बीच कम से कम छह फीट की होगी दूरी.
  • अधिक नामांकन वाले स्कूलों में दो शिफ्ट में होगी क्लास.
  • स्कूलों में एसेंबली होगी लेकिन वो क्लास रूम के अंदर ही एक निश्चित दूरी के साथ.
  • समारोह, त्योहार के आयोजन से स्कूलों को बचने की सलाह.
  • बच्चों की सेहत की स्थिति, आखिरी राष्ट्रीय या अंतरराष्ट्रीय यात्रा होने पर इससे संबंधित डिक्लेरेशन लेकर आना होगा.
  • बाहरी वेंडर स्कूल में किसी भी तरह के खाने की चीज नहीं बेच सकेंगे.
  • स्कूल बसों को दिन में दो बार सेनिटाइज करना होगा. बस की सभी खिड़कियों में पर्दे नहीं होंगे. बिना मास्क के बच्चे बस में नहीं चढ़ेंगे.

हालांकि, इतनी सख्ती के बावजूद कुछ निजी स्कूल वेट एंड वॉच की स्थिति में हैं. दीघा-आशियाना रोड पर स्थित डोन बॉस्को स्कूल में पढ़ाई अगले 8-10 दिनों के बाद ही होगी.वहीं शेखपुरा मोड़ स्थित केन्द्रीय विद्यालय में क्लास छह से आठ की पढ़ाई प्री बोर्ड परीक्षा की वजह से 18 फरवरी से शुरू होगी.

भारत और बिहार में कोरोना के मामले तेजी से घट रहे हैं लिहाजा सरकार भी धीरे-धीरे शैक्षणिक संस्थाओं को कुछ पाबंदियों के साथ खोलने जा रही है. उम्मीद कर सकते हैं कि जल्द ही स्कूलों में शैक्षणिक व्यवस्था पटरी पर लौटेगी.

Source: Zee Bihar Jharkhand

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *