बिहार में इन पाबंदियो के साथ खुलेंगे स्कूल, गाइडलाइन हुई जारी

खबरें बिहार की

Patna: बिहार में कोरोना के मामले 50 के लगभग आने लगे है जिससे की संक्रमण की कम होने के संकेत अब दिखाई देने लगे थे इसी को ध्यान में रखते हुए बिहार सरकार ने दिए जा रहे छुट में और ज्यादा विस्तार किया गया है जिसमे सबसे ज्यादा राहत छात्रों को मिली है. क्यूंकि हाल ही में आयोजित हुए क्राइसिस मैनेजमेंट की बैठक में बिहार सरकार ने कोरोना के मामलों में कमी को देखते हुए प्रारंभिक और माध्यमिक स्कूल यानी की कक्षा 9 वी 10वी को 7 तारीख से और 1 से लेकर 8 वी तक के क्लास को 16 तारीख से खोलने का एलान कर दिया है.

जिसके बाद अब बिहार के सभी स्कूल में छात्रों की किलकारी एक बार फिर से सुनाई देने वाली है. चुकि कोरोना का खतरा अभी टला नहीं है ना ही बिहार कोरोना मुक्त राज्य घोषित हुआ है ऐसे में स्कूल खोलने को लेकर गाइड लाइन जारी की गई है. जारी किये गए गाइड लाइन के अनुरूप ही स्कूल का सञ्चालन करना होगा. जिसके तहत अब स्कूल में किसी भी दिन स्कूल प्रशाशन को छात्रों की 50 फीसदी मौजूदगी ही सुनिश्चित करनी होगी यानी की दिन चाहे कोई भी हो 50 प्रतिशत क्षमता के साथ छात्र स्कूल नहीं आ सकेंगे इस बाबत शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव संजय कुमार ने तमाम विश्वविद्यालयों के कुलपति, सभी जिला शिक्षा पदाधिकारी और सभी जिला पदाधिकारियों के लिए दिशा–निर्देश जारी किए हैं.

इसके साथ ही शिक्षा विभाग ने बंद स्कूल और उच्च शिक्षण संस्थानों के साथ कोचिंग संस्थान को खोलने के लिए sop जारी कर दिया गया है. sop के तहत ही सावधानी के साथ स्कूलो का सञ्चालन करना होगा. उच्च शिक्षण संस्थान,स्कूल और कोचिंग संस्थानों में उस संस्थान के प्रधान यह सुनिश्चित करेंगे की संस्थान के सभी शिक्षक और शिक्षकेत्तर कर्मियों ने टीका ले लिया हो क्यूंकि सिर्फ ऐसे लोगो को स्कूल आने के अनुमति दी जाएगी जिन्होंने टीकाकरण करवा लिया हो बगेर टीका लिए हुए कोई भी शिक्षक या शिक्षकेत्तर कर्मी स्कूल नहीं जायेंगे .

 

इसके साथ ही कोरोना संक्रमण को ध्यान में रखते हुए सभी कक्षाओं को पूरी तरह सैनिटाइज करने की व्यवस्था रखनी होगी, जिसके तहत हैण्ड सैनिटाइजर, मास्क और साफ़ सफाई की पूरी व्यवस्था स्कूल प्रबन्धन को करनी होगी, यानी की अब किसी भी दिन स्कूल के किसी भी कक्षा में बच्चो की उपस्तिथि 50 प्रतिशत से ज्याफा नहीं होनी चाहिए. हर क्लास में विद्यार्थियों की कुल क्षमता की 50 प्रतिशत उपस्तिथि होने चाहिए.

जिसमें सामाजिक दूरी का पालन न होता हो. स्कूल बस को भी अच्छे तरीके से सैनिटाइज करने और स्कूल के सभी स्टाफ के बीच मास्क और अन्य जरूरी साफ– सफाई का पूरा ध्यान रखने का निर्देश दिया गया है. इसके साथ ही एक अन्य महत्वपूर्ण निर्णय के मुताबिक सरकारी प्रारंभिक विद्यालयों में मिड–डे–मील फिलहाल बंद रहेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published.