‘शायद जागरूकता के अभाव में…’ : IAS अधिकारी की ‘कॉन्डोम वाली टिप्पणी’ पर तेजस्वी यादव

कही-सुनी खबरें बिहार की

 

कन्या उत्थान योजना के अंतर्गत बिहार सरकार पहले से 300₹ प्रतिवर्ष सेनेटरी नैपकिन के नाम पर दे रही है. यह जानकारी बिहार के उप मुख्‍यमंत्री और राष्‍ट्रीय जनता दल (RJD) नेता तेजस्‍वी यादव (Tejashwi Yadav) ने ट्वीट करके दी. तेजस्‍वी ने ट्वीट में लिखा, “कन्या उत्थान योजना के अंतर्गत बिहार सरकार पहले से 300₹ प्रतिवर्ष सेनेटरी नैपकिन के नाम पर दे रही है. ‘वक्त’ कार्यक्रम में उस बहादुर बच्ची ने 20-30₹ प्रतिमाह की मांग रखी थी जबकि सरकार 25₹ प्रतिमाह दे रही है. शायद जागरूकता के अभाव में बच्ची और अधिकारी को इसकी जानकारी नहीं रही होगी.”

गौरतलब है कि ‘सशक्त बेटी, समृद्ध बिहार’ पर एक कार्यशाला में एक स्‍टूडेंट ने सवाल पूछा था कि क्‍या सरकार 20 से 30 रुपये में सेनेटरी पैड्स भी दे सकती है? यूनिसेफ और अन्य संगठनों के सहयोग से मंगलवार को इस कार्यक्रम का आयोजन किया गया था. छात्रा के इस सवाल का आईएएस अधिकारी हरजोत कौर भामरा ने अजीबोगरीब जवाब दिया था. इस छात्रा के सवाल का जवाब देते हुए उन्‍होंने कहा था, “कल को आप कहेंगी-सरकार जींस भी दे सकती है. और इसके बाद सुंदर जूते क्‍यों नहीं?” इसके बाद उन्‍होंने कहा, “अंत में आप सरकार से परिवार नियोजन के तरीकों, कंडोम्‍स की भी उम्‍मीद करेंगी. “जब इस स्‍कूली छात्रा ने कहा कि लोगों के वोट से सरकार बनती है, तो इस IAS अधिकारी ने कहा: “यह मूर्खता की पराकाष्ठा है तो वोट मत करो. पाकिस्तान बनो. क्या आप पैसे और सेवाओं के लिए वोट करते हैं?”

हालांकि आईएएस अधिकारी हरजोत कौर भामरा ने बाद में अपने बयान को लेकर खेद प्रकट किया. उन्होंने एक पत्र जारी करते हुए लिखा, “कार्यक्रम में कही गई कुछ शब्दों के कारण अगर किसी बालिका या प्रतिभागी के भावनाओं को ठेस पहुंची हो तो इसके लिए मैं हरजोत कौर खेद व्यक्त करती हूं. इसका उद्देश्‍य किसी को नीचा दिखाने या किसी के भावनाओं को ठेस पहुंचाने का नहीं था, बल्कि उन्हें आगे बढाने के लिए प्रोत्साहित करना था.” इससे पहले, बयान को लेकर महिला आयोग की ओर से संज्ञान लिए जाने के बाद बाद बिहार के CM नीतीश कुमार ने भी IAS के खिलाफ जांच के आदेश दिए हैं. उन्होंने कहा, “दोषी पाए जाने पर अधिकारी के खिलाफ कारवाई होगी.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.