ट्रेन में नहीं करा पाए रिजर्वेशन तो कोई बात नहीं, टिकट की फिक्र छोड़ें; रेलवे का यह एप रखकर शुरू करें यात्रा

खबरें बिहार की जानकारी

ट्रेन में सफर करने के लिए अगर आपने पहले से ही आरक्षण (Train Seat Reservation) करा रखा है, तब तो बहुत अच्‍छा है। आप स्‍टेशन पहुंचे और सीधे अपनी ट्रेन में सीट पर जाकर बैठ जाएं। लेकिन, अगर आपको अनारक्षित (unreserved ticket) यानी जनरल टिकट (Railway UTS ticket) पर यात्रा करनी है, तो स्‍टेशन पहुंचकर टिकट काउंटर खोजना और वहां जाकर कतार में लगना परेशानी भरा होता है। कई बार इसी चक्‍कर में आपकी ट्रेन छूट जाती है।

यूटीएस एप से घर बैठे कटाएं जनरल टिकट

लेकिन, अब ऐसी दिक्‍कत नहीं होगी। आप रिजर्वेशन टिकट की तरह ही जनरल टिकट भी अपने घर बैठे ही कटा सकेंगे। स्‍टेशन पहुंचने के बाद आपको केवल ट्रेन में सवार होना होगा। किसी काउंटर पर कतार में लगने की जरूरत नहीं होगी। ऐसा संभव होगा यूटीएस एप (Railway UTS App) से। यह एप तो पहले से है, लेकिन अब इसका दायरा बढ़ा दिया गया है।

20 किलोमीटर के दायरे में है घर, तो कटा लें टिकट

अब तक यूटीएस एप से टिकट लेने के लिए आपका रेलवे स्‍टेशन के पास होना जरूरी होता था। हालांकि, स्‍टेशन परिसर में प्रवेश करने के बाद भी आप इस एप से टिकट नहीं ले पाएंगे। यानी कि अब तक की व्‍यवस्‍था में आपको घर से निकलने के बाद स्‍टेशन के नजदीक पहुंचकर रास्‍ते में ही टिकट लेना होता था।

किसी भी स्‍टेशन के लिए उपलब्‍ध यह सुविधा

स्‍टेशन पहुंचने की आपाधापी और वाहन की भीड़भाड़ में यह काम मुश्‍क‍िल भरा होता था। अब आप अपने घर से 20 किलोमीटर के दायरे वाले किसी भी रेलवे स्‍टेशन से यात्रा के लिए जनरल टिकट ले सकते हैं। पहले यह सीमा छोटे और बड़े शहरों में दो और पांच किलोमीटर ही थी। यह सुविधा सभी शहरों और गांवों में एक जैसी है।

पटना में बैठे कई स्‍टेशनों के लिए ले सकते टिकट

उदाहरण के लिए ऐसे समझें कि अगर आप पटना इंडस्ट्रियल एरिया में बैठे हैं, तो ट्रेन पकड़ने के लिए घर से निकलने के पहले ही आप पटना जंक्‍शन, पाटलिपुत्र जंक्‍शन, फुलवारी शरीफ, राजेंद्र नगर टर्मिनल, दानापुर, पहलेजा घाट, परसा बाजार, सोनपुर, गुलजारबाग, परमानंदपुर, नेउरा, हाजीपुर, पटना साहिब, नयागांव, पुनपुन, दिघवारा, शीतलपुर, चकमकरंद, घोशवर, बांका घाट या सदीशोपुर में से किसी भी स्‍टेशन से यात्रा करने के लिए जनरल टिकट खरीद सकते हैं। आपको बता दें कि इस लिस्‍ट में पटना के अलावा छपरा और हाजीपुर यानी कुल तीन जिलों के रेलवे स्‍टेशन शामिल हैं।

टिकट खरीदने के तीन घंटे के अंदर यात्रा शुरू करना जरूरी

यूटीएस टिकट एप से बुकिंग के तीन घंटे के अंदर या पहली ट्रेन से आपको अपनी यात्रा शुरू करने की बाध्‍यता है। अगर आपके गंतव्‍य के लिए पहली ट्रेन तीन घंटे के अंदर खुल जाती है और आप यात्रा शुरू नहीं कर पाते हैं, तो आपको बेटिकट माना जाएगा। इस टिकट का कहीं प्रिंट लेने की जरूरत नहीं है। आप अपने मोबाइल में बुक टिकट दिखाकर ही यात्रा कर सकते हैं।

बुकिंग करने वाला ही कर सकता है इस टिकट से यात्रा

इस तरह के टिकट से यात्रा के लिए आपके पास वह मोबाइल होना जरूरी है, जिसके जरिए टिकट बुक किया गया है। ऐसा इसलिए कि इस टिकट को दूसरे मोबाइल पर ट्रांसफर नहीं किया जा सकता है। यह जीपीएस आधारित एप है। अगर आप रेलवे स्‍टेशन की सीमा में एक बार दाखिल हो गए, तो इसके जरिए टिकट बुक नहीं कर सकते हैं। यह व्‍यवस्‍था इसलिए की गई है कि कोई टिकट चेकिंग में बचने के लिए धोखाधड़ी नहीं कर सके।

यूटीएस टिकट को कराना पड़ता रिचार्ज

पूर्व मध्य रेल के मुख्य जनसंपर्क पदाधिकारी बीरेंद्र कुमार ने बताया कि भारतीय रेल के इस फैसले से रेल यात्रियों को काफी सुविधाएं मिल गई हैं। यूटीएस एप से टिकट बुक करने के लिए इसे रिचार्ज करना होता है। रिचार्ज करने पर रेलवे तीन प्रतिशत बोनस भी देता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.