बालू माफियाओं पर कहर बन कर टूटे पटना के SSP मनु महाराज, बीच गंगा मच गया हड़कंप

खबरें बिहार की

पटना: पटना के एसएसपी मनु महाराज ने दीघा के बालू घाटों पर छापेमारी की। इस दौरान एसएसपी का ‘दबंग’ अंदाज देखते ही बन रहा था। पूरे लाव-लश्कर के साथ पहुंचे एसएसपी खुद पूरे ऑपरेशन को देख रहे थे। उनके पहुंचते ही बालू घाटों पर हड़कंप मच गया। बालू का अवैध उत्खनन करने वाले माफिया वहां से फरार हो गए। इस दौरान एसएसपी मनु महाराज एनडीआरएफ टीम की तरह खास लाइफ जैकट में नजर आए। उनके साथ कई आला अधिकारियों ने गंगा नदी में पेट्रोलिंग कर अवैध बालू से लदी पांच नावों को जब्त कर लिया।

एसएसपी मनु महाराज अपने खास अंदाज के लिए हमेशा चर्चा में बने रहते हैं। किसी भी बड़े ऑपरेशन की कमान वे संभालते हैं तो खुद एके-47 लेकर मैदान में उतर जाते हैं। बता दें कि पटना के दियारा इलाके में अगस्त 2016 में एक ऑपरेशन के दौरान उन्होंने खुद ही कमान संभाली थी। दरभंगा में भी एक क्रिमिनल को पकड़ने के लिए वे घोड़े पर सवार होकर मैदान में उतरे थे। वे पटना के अलावा गया और दरभंगा में भी पोस्टेड रहे हैं। बिहार में सिंघम के नाम से मशहूर इस जांबाज एसएसपी ने कभी शराब माफियों तो कभी बालू माफियाओं और कई बड़े अपराधियों की नींद उड़ा चुके हैं। उनकी स्टाइल के पुलिस महकमें और आम लोगों के साथ ही राजनेता भी मुरीद हैं। यही वजह है कि बिहार के CM नीतीश कुमार के वह चहेते अफसरों में से एक हैं।

2006 बैच के आईपीएस अधिकारी मनु महाराज मूल रूप से हिमाचल प्रदेश के हैं। इनकी अपनी शुरुआती पढ़ाई शिमला से हुई है। इसके बाद इन्होंने आईआईटी रुड़की से बीटेक किया। इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी करने के बाद यूपीएससी की तैयारी शुरू की और इसी दौरान JNU में एन्वायरन्मेंटल साइंस में पोस्ट ग्रैजुएशन भी किया।2006 में यूपीएससी क्लियर कर IAS रैंक मिलने के बावजूद IPS को चुना। दरअसल, मनु महाराज एक IPS अफसर बनाना चाहते थे। इन्हें बिहार कैडर मिला।

Source: Live Bihar

Leave a Reply

Your email address will not be published.