sand

अब बालू मिलने में नहीं होगी कोई परेशानी, आज से पटना में बिकने लगेगा बालू

खबरें बिहार की

पटना :  दानापुर और पालीगंज अनुमंडल में जब्त बालू स्टॉक की मंगलवार को नीलामी हुई। कुल 23 स्टॉक में से 22 की नीलामी प्रक्रिया पूरी हो गई है। इन स्थलों पर बालू भंडारण की मात्र 32 लाख घनफीट है। इसे नीलामी के जरिए 12 करोड़ 82 लाख 36 हजार रुपए में बेचा गया। जबकि इन सबके लिए तीन करोड़ 51 लाख 90 हजार 800 रुपये सुरक्षित जमा राशि के रूप में जमा कराए गए।


उम्मीद है कि बुधवार से पटना जिले में बालू खुदरा बिक्री के लिए उपलब्ध होगा। मंगलवार को कलेक्ट्रेट सभागार में 11 बजे से नीलामी प्रक्रिया शुरू हुई जो तीन बजे तक पूरी कर ली गई। कुल 35 लाख घन फीट बालू की नीलामी होनी थी लेकिन एक स्थल की नीलामी नहीं होने से तीन लाख घन फीट बालू रह गया है।

sand smuggling DIG suspended SHO

बचे हुए काब नामक जगह पर बालू भंडारण के लिए सिर्फ एक ही टेंडर आने की वजह से उसकी नीलामी नहीं हो पाई। जिला प्रशासन इसके लिए अलग से टेंडर निकाल कर एक से अधिक टेंडर के लिए आमंत्रित करेगा।

सबसे अधिक 2 करोड़ 21 लाख की लगी बोली: बिहटा स्थित बिरधौर निसरपुरा में 4 लाख घनफीट बालू के लिए सबसे अधिक बोली लगी। यहां के बालू भंडार को अपने नाम कराने के लिए 2 करोड़ 21 लाख रुपये तक बोली पहुंचने के बाद कोई दूसरा आगे नहीं बढ़ा। इसके बाद यहा का बालू भंडारण भुवनेश्वर पाठक कंस्ट्रक्शन प्रा.लि ने अपने नाम करा लिया। सभी 23 स्थलों के लिए 95 टेंडर आए थे। इसमें से कम सुरक्षित राशि जमा कराने के कारण एक टेंडर को रद्द किया गया।


कुल 93 ने लगाई बोली: 22 स्थलों के बालू भंडारण के लिए 93 कंपनियों और लोगों ने बोली लगाई। भुवनेश्वर पाठक कंन्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड ने सबसे अधिक बोली लगाकर 11 बालू भंडारण अपने नाम करा लिया है। वहीं अन्य बचे हुए 11 में 3 स्थलों के बालू भंडारों पर एएससीपीएल कंन्सट्रक्शन प्राइवेंट लिमिटेड ने अधिक बोली लगाई।

sand smuggling DIG suspended SHO

वहीं जरखा में ही दो बालू भंडारण के लिए धर्मेन्द्र , जीतन छपरा के लिए पवन कुमार, मधुबन राजीपुर के लिए पीके ट्रेडर्स, बिरधौर निसरपुरा में दो स्थलों के लिए बुद्धा हेरिटेज और मसौढ़ा जलपुरा और भेड़हरिया के दो स्थलों पर फास्ट जोन सर्विसेज ने सबसे अधिक बोली लगाई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.