समाधान यात्रा पर मधुबनी पहुंचे CM नीतीश कुमार, दिल्ली हाट की तर्ज पर बनाए गए मिथिला हाट का करेंगे उद्घाटन

खबरें बिहार की जानकारी

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार समाधान यात्रा पर मधुबनी पहुंच गए हैं। हेलीकॉप्टर के जरिए वे मिथिला चित्रकला संस्थान, सौराठ के पास बने हेलीपैड पर उतरे। यहां से वे रहिका प्रखंड के जगतपुर गांव के भ्रमण के लिए निकले।

जीविका दीदी से करेंगे संवाद

जगतपुर गांव मुख्यमंत्री नीतीश कुमार विभिन्न योजनाओं का निरीक्षण किया। उनके साथ जल संसाधन मंत्री संजय कुमार झा, सहित कई वरीय पदाधिकारी मौजूद हैं। जगतपुर गांव का दौरा करने के बाद मुख्यमंत्री मिथिला चित्रकला संस्थान, सौराठ जाएंगे। जहां, जीविका दीदी के साथ संवाद करेंगे।

अधिकारियों के साथ करेंगे समीक्षा बैठक

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक भी करेंगे। इसके बाद यहां से वे झंझारपुर रवाना होंगे। झंझारपुर की मेहथ में कमला-बलान नदी बांध विभिन्न कार्यों का निरीक्षण करेंगे। इसके बाद यहां से वे अररिया संग्राम के लिए प्रस्थान करेंगे। अररिया में वे लगभग 14 करोड़ रुपए की लागत से बने मिथिला हाट का लोकार्पण करेंगे।

मिथिला हाट का करेंगे लोकार्पण

बता दें कि कला-संस्कृति से देश-विदेश के लोगों को रूबरू कराने और बिक्री के लिए आधुनिक बाजार उपलब्ध कराने के उद्देश्य से बिहार सरकार द्वारा ‘दिल्ली हाट’ की तर्ज पर मधुबनी जिले के झंझारपुर प्रखंड के अररिया संग्राम में एनएच 57 के किनारे ‘मिथिला हाट’ का निर्माण किया गया है।

अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस है मिथिला हाट

बिहार सरकार ने ‘मिथिला हाट’ में देशी-विदेशी पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए कई अत्याधुनिक सुविधाओं का निर्माण कराया है। इसके परिसर में 50 आधुनिक शैली की दुकानों के अलावा फूड कोर्ट, ओपन एयर थिएटर, प्रशासनिक भवन, मल्टी परपस हॉल, डोरमेट्री, झरना, पार्किंग एरिया इत्यादि का भी निर्माण कराया गया है। इसके अलावा पूरे परिसर को कचनार, चंपा, अमलतास सहित विभिन्न प्रकार के सुंदर और खुशबूदार पौधों और आकर्षक रोशनी से सजाया गया है।

व्यंजनों से भी हो सकेंगे रूबरू

ईस्ट-वेस्ट कॉरिडोर के किनारे स्थित होने के कारण मिथिला के साथ-साथ देश-विदेश के पर्यटक भी ‘मिथिला हाट’ तक आसानी से पहुंच सकेंगे। यहां आकर लोग मिथिला की कला-संस्कृति, जैसे- मिथिला पेंटिंग, हस्तकला, सिक्की घास और खादी से निर्मित उत्पादों के अलावा स्थानीय व्यंजन से रूबरू हो सकेंगे।

मिथिला की कला संस्कृति के लिए होगा बेहरीन बाजार

इसके निर्माण से मिथिला की कला-संस्कृति और अन्य उत्पादों की बिक्री के लिए एक बेहतरीन बाजार उपलब्ध होगा। यहां कुछ अन्य राज्यों के स्थानीय उत्पादों एवं व्यंजन की बिक्री भी की व्यवस्था की जाएगी। मिथिला हाट के परिसर में निर्मित ओपन एयर थिएटर और मल्टी परपस हॉल में मिथिला सहित विभिन्न राज्यों के कलाकार अपनी कला का प्रदर्शन भी कर पाएंगे।

बोटिंग का भी ले सकेंगे आनंद

मिथिला हाट के पास पोखर का जल संसाधन विभाग ने जीर्णोद्धार एवं सौंदर्यीकरण कराया है। पोखर के उत्तर और दक्षिण में सीढ़ियों का, जबकि इसके चारों ओर पाथवे का निर्माण कराया गया है। मिथिला हाट आने वाले पर्यटक यहां बोटिंग का भी आनंद ले सकेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.