सलाम करें इस अफसर को जिसने अकेले दम पर रोक दी ट्रेन में बड़ी डकैती, सेना ने बताई कहानी

प्रेरणादायक

पटना: भारतीय सेना में जांबाज अफसरों की कमी नहीं है। चाहे बॉर्डर पर देश की सुरक्षा हो या फिर देश के अंदर किसी मुश्किल घड‍़ी में लोगों की मदद, हर मामले में भारतीय सेना आगे रहती है।कुछ ऐसी ही दास्तान है लेफ्टिनेंट आशीष की, जिन्होंने अपनी बहादुरी की वजह से अकेले दम पर एक ट्रेन में लूट की वारदात को नाकाम कर दिया।

भारतीय सेना ने खुद लेफ्टिनेंट आशीष की दास्तान सोशल मीडिया पर शेयर की है। ये घटना 6 मई को दिल्ली के हजरत निजामुद्दीन स्टेशन से पहले खड़ी दादर एक्सप्रेस की है। सेना के इन्फॉर्मेशन डिपार्टमेंट ने अपने ऑफिशल पेज पर लेफ्टिनेंट आशीष की इस बहादुरी के बारे में विस्तार से लिखा, ‘6 मई की सुबह करीब 3:30 बजे आर्टिलरी रेजिमेंट में तैनात लेफ्टिनेंट आशीष अमृतसर जाने वाली दादर एक्सप्रेस के सेकंड एसी कंपार्टमेंट में अपनी बर्थ पर लेटे थे। ट्रेन हजरत निजामुद्दीन से थोड़ा पहले खड़ी हो गई थी। आशीष ने देखा कि दो डकैत एक महिला यात्री को लूट रहे थे। आशीष तुरंत अपनी बर्थ से उतरकर डकैतों से भिड़ गए।’

पोस्ट में आगे लिखा, ‘डकैतों से हाथापाई के दौरान एक डकैत ने आशीष के हाथ पर चाकू से हमला कर दिया। ऑफिसर की बहादुरी से हैरान डकैत तुरंत ट्रेन से कूद गए जिससे डकैती टल गई।’ मंगलवार शाम को शेयर की गई इस पोस्ट को महज 4 घंटे के अंदर ही करीब 15 हजार लोगों ने लाइक और 1500 लोगों ने शेयर किया है।

Source: the hook

Leave a Reply

Your email address will not be published.