सावन का दूसरा सोमवार, बन रहे हैं शुभ संयोग

आस्था

6 जुलाई सावन का दूसरा सोमवार आ गया है. चन्द्रमा वृष राशि  में उच्च का है जिसे हम शिव जी की सोमवारी के रूप में मना रहे हैं. पुराने कष्ट दूर होंगे, नए सिरे से नया अच्छा जीवन शुरू होगा. शिव जी के खास उपाय से सभी को मनचाही सफलता जरूर मिलेगी. हर हर महादेव की  कृपा से शिव जी हर योजना को सफल करेंगे. सावन में मानसून आया है. वर्षा का पानी अब भाग्य को चमकाएगा. वैसे भी पानी को धन का कारक माना गया है.

नए सिरे से बदलाव करने से राज योग का लाभ क्यों होगा

ग्रह नक्षत्रों का अद्भुत संयोग बना है

सावन की नवमी तिथि को सावन के दूसरे सोमवार को

नया  पहला कृतिका  नक्षत्र है

सोमवार का स्वामी चन्द्रमा भी उच्च की राशि वृष  पर हैं

अगर ऐसा हो तो बहुत लाभ मिलता है

सर्वार्थ सिद्धि योग बन रहा है

दिन भी दूसरा  सोमवार है

जो भी बदलाव करेंगे –नए सिरे से काम शुरू करेंगे

उसमे जरूर सफलता मिलेगी

सरकारी नौकरी पाने या कॉम्पिटिशन में सफलता मिलेगी

रोज  गंगा जल डालकर नहाएं

शिव जी और सूर्य को गंगा जल ,दूध गुड डालकर जल चढ़ाओ

तुलसी जी पर  एक दीपक जलाओ

मनचाहे विषय पर पढ़ना मिल जाए

सावन  में कॉलेजों में एडमिशन होते हैं

बहुत से एडमिशन चल रहे हैं

मेडिकल या इंजीनियरिंग में दाखिला चाहते हैं

बहुत से छात्रों  और छात्राओं को मनचाहा एडमिशन नहीं मिला होगा

छात्र और छात्राएं मनचाहा एडमिशन के लिए परेशान रहते  हैं

उनका सपना एक ख़ास कॉलेज में एडमिशन पाना होता है

एक ख़ास सब्जेक्ट पढ़ने का मन होता है

एडमिशन का सपना पूरा हो जाए, करो उपाय

वर्षा के पानी में शिव शिव बोलकर नहाओ

वर्षा का जल इकठ्ठा करके शिवजी  को चढ़ाओ

मनचाहा  सब्जेक्ट और कॉलेज का नाम लिखकर शिव  जी को चढ़ाओ

मंत्र जाप –ॐ नमः शिवाय

शिव जी को गन्ने के रस से अभिशेख करें

विदेश जाने का सपना पूरा होगा

पूरे शिव परिवार की पूजा करें

शिव पार्वती ,गणेश और कार्तिकेय जी

सर्प राज और नंदी बैल की पूजा करें

दूध दही शहद घी और गुड़ मिलाकर अभिशेख करें

शिव जी को बेलपत्र की माला बनाकर चढ़ाएं

शिव मंदिर में खीर बनाकर बाँटें

नया व्यापार शुरू करने  के लिए उपाय –

सोमवार को लाल धागे में गले में तीनमुखी रुद्राक्ष धारण करें

शिव लिंग पर नारियल पानी चढ़ाएं

कपूर और लौंग का भस्म चढ़ाएं

रात भर ॐ नमः शिवाय का जाप करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *