भारत का 140 साल पुराना palace जहाँ सोने की छत और चांदी की टेबल, 400 कमरे, 40म्यूजियम है खासियत

अंतर्राष्‍ट्रीय खबरें

भारत में कई मशहूर palace हैं जिसे देखने के लिए लोग दूर-दूर से आते हैं। ये महल भारत की शान है और हमारे पुरूखोंं का दिया हुआ एक खूबसूरत तोहफा है। इसी विरासत में चार चांद लगाता है बेहद खूबसूरत और मशहूर ग्वालियर के महाराजा श्रीमंत माधवराव सिंधिया का महल। इस महल का नाम जय विलास महल है जिसे देखकर आप भी इसके कायल हो जाएंगे।

1240771 वर्ग फीट में फैला हुआ यह खूबसूरत palace श्रीमंत माधवराव सिंधिया ने 1874 में बनवाया था। जब इस महल को बनाया गया उस वक्त इसकी कीमत करीब 1 करोड़ रुपय थी लेकिन अब इस महल की कीमत अरबों में है।

इस महल को सजाने के लिए माधवराव सिंधिया ने विदेशी कारीगरों की मदद ली थी। फ्रांसीसी आर्किटेक्ट मिशेल फिलोस ने इस महल का निर्माण करवाया था। Palace की खास बात यह है कि महल मेंं 3500 किलो का झूमर लगा हुआ है जो अपने आप में अनोखा है।

झूमर को छत पर टांगने से पहले इंजीनियरों ने छत पर 10 हाथी चढ़ाकर देखे थे कि छत वजन सह पाती है या नहीं। यह हाथी 7 दिनों तक छत की परख करते रहे, इसके बाद यहां झूमर लगाया गया था।

इस palace की छत पर जब आप नजर ड़ालेंगे तो आपको छत पर सोना और रत्न से की गई कारीगरी मिलेगी। इस महल में कुल 400 कमरे हैंं जिसमें 40 कमरे म्यूजियम के तौर पर रखे गए हैं। इस महल की ट्रस्टी ज्योतिरादित्य की पत्नी प्रियदर्शनी राजे सिंधिया हैं।

palace

palace

palace

palace

Leave a Reply

Your email address will not be published.