जब रिवाल्वर के साथ मुखिया के पति आए RJD की रैली में शामिल होने

खबरें बिहार की

समस्तीपुर की हसनपुर पंचायत की मुखिया मुन्नी देवी के पति विजय यादव गेट नंबर 10 से रिवाल्वर के साथ गांधी मैदान में जाना चाह रहे थे। पुलिस ने उन्हें रोका। उन्हें हिरासत में लेकर थाने ले गई। विजय ने लाइसेंस दिखाया।

फिर स्थानीय थाने से सत्यापन कराने पर बताया गया कि विजय पर कोई मुकदमा नहीं है। इसके बाद पुलिस ने विजय को थाने से छोड़ दिया, लेकिन रिवाल्वर रैली खत्म होने के बाद लौटाई गई।

आपको बता दें कि आरजेडी की रैली के दौरान रविवार की सुबह तब अफरातफरी मची जब पुलिस को आयकर गोलंबर के पास फायरिंग की खबर मिली। कई बार तेज आवाज आयी। कोतवाली डीएसपी और चौक के थानेदार अशोक पांडेय राजद कार्यकर्ताओं की ओर दौड़ पड़े।

पुलिसवालों ने उन्हें रोका। इस पर पुलिस-कार्यकर्ताओं के बीच नोकझोंक भी हुई। पुलिस ने जब स्टेनगन छीना तो हकीकत सामने आयी। वह नकली निकला।
दरअसल लोहे के बने नकली स्टेनगन के ऊपर पटाखा रखकर राजद कार्यकर्ता छोड़ रहे थे। दिखने में ऐसा लग रहा था जैसे सड़क पर फायरिंग की जा रही है। आसपास से गुजरने वाले लोग भी यह देखकर दहशत में आ गए। लोहे का नकली स्टेनगन और उससे छूट रहे पटाखे दूर से देखने पर बिलकुल असली लग रहे थे।

झारखंड से आए थे समर्थक : नकली स्टेनगन थामने वालों ने बताया कि वे रैली के लिए झारखंड से आए हैं। उन्होंने पुलिस से भी कहा कि उनके हाथ में किसी तरह का हथियार नहीं बल्कि पटाखा छोड़ने वाला यंत्र है। पहली बार में पुलिस भी समझ नहीं सकी कि कार्यकर्ताओं के हाथ में असली स्टेनगन है या नकली। करीब जाने के बाद सच्चई सामने आयी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.