राजद ने दिया साथ आने का ऑफर तो जदयू ने किया स्वीकार, उपेन्द्र कुशवाहा ने तो यहां तक कह दिया

खबरें बिहार की

Patna: राजद प्रदेश अध्‍यक्ष जगदानंद सिंह के बयान ने भीषण ठंड में बिहार का सियासी तापमान बढ़ा दिया है. उन्होंने सीएम नीतीश कुमार को खुलेआम आरजेडी के साथ आने का ऑफर दिया है. जबकि आरजेडी प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने भी खरमास के बाद बिहार में खेला होने की बात कही है. अब इस मामले पर जदयू संसदीय बोर्ड अध्यक्ष उपेन्द्र कुशवाहा का बयान सामने आया है. उपेन्द्र कुशवाहा ने कहा कि जातीय जनगणना पर आरजेडी का साथ तो पहले से ही है. इस मुद्दे पर सिर्फ आरजेडी ही नहीं बिहार के पार्टियों ने मिलकर नीतीश कुमार के नेतृत्व में पीएम मोदी के पास जाकर ज्ञापन सौंपा और जातीय जनगणना कराने की मांग की है. कुशवाहा ने कहा कि आरजेडी का साथ तो पहले से ही है उस सपोर्ट को जगदा बाबू ने दोहराया है उसके लिए उनका धन्यवाद करते हैं.

उपेन्द्र कुशवाहा ने कहा कि जहां तक हमारी पार्टी की बात है हमलोगों का तो पूरा कमिटमेंट हैं जातीय जनगणना को लेकर. उन्होंने कहा कि जातीय जनगणना पूरे देश के लिए जरुरत है. कुशवाहा ने कहा कि केंद्र सरकार अगर नहीं करवाती है तो राज्य सरकार तो निश्चित रूप से करवाएगी. बीजेपी के सवाल पर उन्होंने कहा कि बीजेपी ने हालांकि अभी मना नहीं किया है. नीतीश कुमार के नेतृत्व में सरकार यह काम जरुर करेगी.

 

 

बता दें कि इससे पहले जगदानंद सिंह ने सीएम नीतीश को ऑफ़र देते हुए कहा कि भाजपा के आगे नीतीश कुमार झुके नहीं. विशेष राज्य का दर्जा और जातीय जनगणना के मुद्दे पर नीतीश सरकार पर किसी तरह का राजनीतिक असर पड़ता है तो आरजेडी नीतीश कुमार को साथ देने के लिए खड़ा है. राजद प्रदेश अध्‍यक्ष ने कहा कि सरकार पर असर पड़ेगा तो आरजेडी सीएम नीतीश का साथ देने के लिए तैयार है.

जगदानंद सिंह के अलावे राजद प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने कहा कि बिहार के विकास के मुद्दे पर नीतीश कुमार को महागठबंधन के साथ आना चाहिए. भाजपा की नीति की वजह से बिहार का विकास बाधित हो रहा है. खरमास के बाद बिहार में खेला होगा. जिसको लेकर बिहार की सियासत फिर गरमाने लगी है. हालांकि इससे पहले भी उपचुनाव के समय आरजेडी द्वारा खेला होने की बात कही थी. लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ.

Leave a Reply

Your email address will not be published.