शीतला मंदिर पहुंची राबड़ी, बोली- मेरी बहू लक्ष्मिनियां हैं, खुशियां साथ लेकर आई

राजनीति

पटना: राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव और ऐश्वर्या राय शनिवार को विवाह बंधन में बंध गए। लालू परिवार ऐश्वर्या का काफी भाग्यशाली मान रहा है। उनके घर में कदम रखने से पहले ही लालू परिवार में कई खुशियां आई। बेटे की शादी के बाद सोमवार को पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवा पटना के माता शीतला मंदिर पहुंची। वहां उन्होंने पूजा की।

उन्होंने कहा कि बहुत खुशी की बात है कि शांतिपूर्ण तरीके से तेजप्रताप की शादी हो गई। इस शादी में देशभर के लोग आए थे। उन्होंने अपनी बहू को लक्ष्मिनियां बताया। उन्होंने कहा कि बहू के आंगन में पैर पड़ने से पहले ही घर में खुशियां आ गई। वह हमारे परिवार के लिए बहुत भाग्यशाली है। मैं कामना करती हूं कि आगे भी मेरे परिवार में इसी तरह खुशियां बरकरार रहे। उन्होंने कहा कि कोई भी शुभ काम करने से पहले भगवान का नाम लिया जाता है। पूजा-पाठ किया जाता है। भगवान जो भी करते हैं अच्छे के लिए ही करते हैं।

आपको बता दें कि शनिवार को राबड़ी देवी के सरकारी आवास से शाही अंदाज में गाड़ियों के काफिले के साथ बारात निकली थी और रविवार को तेजप्रताप घोड़े पर सवार होकर पत्नी ऐश्वर्या को डोली पर लेकर 10 सर्कुलर रोड लौटे। रविवार को दिन में लालू के समधी चंद्रिका राय के आवास पर मछली-चावल भोज का आयोजन किया गया। लालू प्रसाद भी अपने करीब शिवानंद यादव व अन्य नेताओं के साथ समधियाना पहुंचे और मछली चावल का आनंद उठाया। सारण कमिश्नरी की परंपरा है कि शुभ कार्य के संपन्न होने पर मछली-चावल का भोज किया जाता हैं। चंद्रिका राय ने भी बेटी की शादी संपन्न होने के बाद अपने आवास पर मछली-चावल भोज का दिया। इस मौके पर बेटे तेजप्रताप और बहू ऐश्वर्या भी मौजूद रहीं।

Source: live bihar

Leave a Reply

Your email address will not be published.