क्रिकेट में मनोरंजन का कॉकटेल यानी इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) का विश्व क्रिकेट में योगदान किसी से छिपा नहीं। हर सीजन कई युवा प्रतिभाओं को दौलत-शोहरत दिलाने के साथ-साथ यह टूर्नामेंट एक ऐसा स्टेज देता है, जहां अपने प्रदर्शन का लोहा मनवा कर सीधे राष्ट्रीय टीम में जगह मिलती है। आईपीएल इतिहास के पन्ने पटल कर देखें तो आपको कई ऐसे नाम मिल जाएंगे, जिन्होंने इस टूर्नामेंट के बूते टीम इंडिया समेत अपनी-अपनी राष्ट्रीय टीम में जगह बनाई हो।

देखा जाए तो IPL का यह 11वां संस्करण अपना आधा सफर तय कर चुका है। आज की कड़ी में आइए आपको उन 5 युवा खिलाड़ियों के बारे में बताते हैं, जिन्हें जल्द ही आप नीली जर्सी में टीम इंडिया के लिए खेलते देख सकते हैं।

सनराइजर्स हैदराबाद की टीम के अहम गेंदबाज सिद्धार्थ कौल इस सीजन में बेहतरीन खेल दिखा रहे हैं। अपनी नकल बॉल से बल्लेबाजों को पहले परेशान करना फिर जाल में फंसाकर विकेट गिराना मानो कौल का शगल बन चुका है। उनकी गेंदबाजी में आक्रामकता और विविधता दोनों देखी जा सकती है।

मूलत: पंजाब के रहने वाले कौल आईपीएल 2018 में अबतक खेले अपने 11 मैच में 7.50 की इकॉनमी से 13 विकेट झटक चुके हैं। उनके शानदार प्रदर्शन का इनाम टीम इंडिया में चयन के रूप में मिल चुका है। सिद्धार्थ कौल को इंग्लैंड के साथ टी-20 और वनडे तथा आयरलैंड के खिलाफ टी-20 सीरीज के लिए भारतीय टीम में स्थान मिला है। सिद्धार्थ अपने अगले कदम के लिए पूरी तरह तैयार हैं, अब उन्हें तलाश है एक नए मौके की।

गौतम गंभीर की कप्तानी छोड़ने के बाद दिल्ली डेयरडेविल्स की कमान श्रेयस अय्यर जैसे युवा खिलाड़ी को सौंपी गई। लगातार हार रही टीम की कमान संभालते ही श्रेयस ने पहले ही मैच में 40 गेंद की ताबड़तोड़ 93 रन की पारी खेल दी। केकेआर की मजबूत गेंदबाजी आक्रमण की बखिया उधेड़ते हुए अय्यर ने न सिर्फ अपनी टीम को जीत दिलाई बल्कि डेब्यूटेंट कप्तान के तौर पर सर्वाधिक रन बनाने का रिकॉर्ड भी अपने नाम किया।

आईपील के इस सीजन में अबतक खेले गए 11 मैच में 44.25 की औसत से अय्यर 354 रन बना चुके हैं। इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट 133.29 का रहा तो 96 का सर्वाधिक स्कोर। इस शानदार फॉर्म का तोहफा अय्यर को टीम इंडिया में चयनित होकर मिला। उन्हें ब्रिटेन दौरे पर तीन देशों की वनडे सीरीज में भाग लेने वाली भारत A टीम का कप्तान चुना गया है।

एमएस धोनी का उत्तराधिकारी समझे जाने वाले युवा बल्लेबाज ऋषभ पंत इस वक्त जबरदस्त फॉर्म में चल रहे हैं। 2016 U-19 विश्वकप के सितारा बल्लेबाज रहे ऋषभ पंत आईपीएल में दिल्ली डेयरडेविल्स की ओर से खेलते हैं। इस सीजन में 3 अर्धशतक के साथ पंत गुरुवार रात धुआंधार शतक भी जड़ चुके हैं। ऑरेंज कैप के प्रबल दावेदार पंत ने इस दौरान कई रिकॉर्ड अपने नाम किए।

 

एडम गिलक्रिस्ट को अपना आदर्श मानने वाले इस बाएं हाथ के विकेटकीपर बल्लेबाज पर टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली की भी नजर हैं। आज नहीं तो कल टीम को एमएस धोनी की कमी पूरे करने वाले विकेटकीपर बल्लेबाज की जरूरत पड़ने ही वाली है, ऐसे में पंत के पास टीम इंडिया में अपनी जगह पक्की करने का सुनहरा मौका है।

19 साल के इस जाबांज ने आईपीएल के इस सीजन में अपने खेल से बड़े-बड़ों को प्रभावित किया है। मुंबई इंडियंस की ओर से 11 मैच में 160.81 के जबरदस्त स्ट्राइक रेट से 238 रन बनाने वाले इस युवा बल्लेबाज ने केकेआर के खिलाफ खेली अपनी 21 गेंदों पर 62 रन की पारी से सभी का फैंस दिल जीत लिया था। छोटे कद का यह बल्लेबाज किसी भी गेंदबाज को लंबे-लंबे छक्के लगाने की ताकत रखता है।

2014 में हुए अंडर-19 विश्वकप में टीम इंडिया की कप्तानी करने वाले इशान, महेंद्र सिंह धोनी को अपना आदर्श मानते हैं। खतरनाक बल्लेबाजी के साथ विकेट के पीछे चौकस नजर रखने वाले इशान भी धोनी के गृहराज्य झारखंड से आते हैं। टीम इंडिया की प्लेइंग इलेवन में शामिल होने के लिए भविष्य में ऋषभ पंत से इशान किशन का सीधा मुकाबला होगा।

टीम इंडिया के लिए 10 वनडे मैच खेल चुके बल्लेबाज केएल राहुल के लिए आईपीएल टीम में वापसी करने का सुनहरा मौका हो सकता है। इस सीजन किंग्स इलेवन पंजाब के लिए खेलने वाला यह खिलाड़ी अब तक खेले गए 10 मैच में 58.87 की औसत से 471 रन बना चुका है।

ऑरेंज कैप के प्रबल दावेदार इस 26 वर्षीय बल्लेबाज ने 14 गेंदों पर 50 रन ठोंककर IPL इतिहास की सबसे तेज फिफ्टी अपने नाम की थी। अगर केएल राहुल अपने इसी फॉर्म को बरकरार रखते हैं तो दोबारा टीम इंडिया में खेलते भी नजर आ सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here