रांची हाईकोर्ट में लालू प्रसाद की जमानत पर टली सुनवाई, बिहार में मायूस हुए समर्थक व स्‍वजन

जानकारी

राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव (RJD Supremo Lalu Prasad Yadav) की जमानत याचिका पर रांची  के हाईकोर्ट में आज फिर सुनवाई टल गई। बीते चार मार्च को दस्‍तावेजों की वजह से सुनवाई टल गई थी। कोर्ट ने कागजात की कमियों को दूर कर 11 मार्च की तारीख दी थी। कई गंभीर बीमारियों से जूझ रहे राजद सुप्रीमो के स्‍वजनों व समर्थकों को उम्‍मीद है कि कोर्ट से उनकी उम्र, बीमारी आदि को देखते हुए राहत मिल सकती है।

चारा घोटाले में सजायाफ्ता लालू प्रसाद की तबियत काफी खराब चल रही है। उनकी किडनी की बीमारी बढ़ गई है। तीन-चार दिनों से वे ज्‍यादा अस्‍वस्‍थ हो गए हैं। डाक्‍टरों ने बताया है कि स्‍थि‍ति ऐसी ही रही तो डायलसिस की जरूरत पड़ सकती है। फिलहाल लालू रांची के ही रिम्‍स में भर्ती हैं। बीते मंगलवार को क्रेटेनाइन लेवल काफी बढ़ा हुआ था। उनका इलाज कर रहे डा. विद्यापति ने बताया कि उनका ब्‍लड प्रेशर और ब्‍लड शुगर ठीक है। उनकी लगातार मानीटरिंग की जा रही है। बीते दिनों उनके दांत की आरसीटी की गई थी। उनके खराब स्‍वास्‍थ्‍य के आधार पर ही जमानत या‍चिका दा‍खिल की गई थी। ले‍किन चार मार्च को कोर्ट ने दस्‍तावेजों में कमी को देखकर कहा था कि इसे दूर कर लें। मालूम हो कि चारा घोटाला के सबसे मामले डोरंडा कोषागार से 139 करोड़ से अधिक की निकासी की मामले में 21 फरवरी को सीबीआइ की विशेष अदालत ने फैसला सुना दिया था। लालू प्रसाद को पांच साल की सजा दी गई थी। तब से वे जेल में हैं

10 मार्च का दिन रहा है खास, अब 11 से भी उम्‍मीद 

बता दें कि 10 मार्च को यूपी में भले अखिलेश यादव को बहुमत नहीं मिली लेकिन यह दिन लालू प्रसाद के लिए बेहद खास रहा है। पहली बार वे इसी दिन राज्‍य के मुख्‍यमंत्री बने थे। समर्थकों को उम्‍मीद थी कि 10 मार्च की तरह 11 मार्च भी उनके लिए खास होगा। कोर्ट से उन्‍हें जमानत मिल जाएगी। लेकिन फिर उनकी उम्‍मीदों पर पानी फिर गया है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.