राज्य के 3.84 लाख शिक्षक पढ़ेंगे कोरोना से बचाव का पाठ, ‘सजग मॉडल’ और इसके ई-कंटेंट से दी जाएगी ट्रेनिंग

खबरें बिहार की जानकारी

राज्य के सरकारी विद्यालयों में पढ़ाने वाले 3 लाख 84 हजार 611 शिक्षक शीघ्र ही कोरोना से बचाव का पाठ पढ़ेंगे। इसको लेकर शिक्षकों को जिलावार ट्रेनिंग दी जाएगी। शिक्षा विभाग द्वारा यह प्रशिक्षण प्रारंभिक विद्यालयों के 3,49,490 जबकि माध्यमिक के 35,121 शिक्षकों को दी जाएगी। राज्य सरकार इनके प्रशिक्षण पर कुल 178 करोड़ 94 लाख 61,546 रुपए खर्च करने जा रही है।

बिहार शिक्षा परियोजना परिषद ने राशि जिलावार भेज भी दी है। बीईपी के राज्य परियोजना निदेशक सह शिक्षा विभाग के सचिव असंगबा चुबा आओ ने राशि जारी करते हुए शिक्षकों को कोरोना से बचाव का प्रशिक्षण सफलतापूर्वक पूर्ण करने को लेकर विस्तृत दिशा-निर्देश भी दिए हैं।

शिक्षकों को यह ट्रेनिंग ‘सजग मॉडल’ और इसके ई-कंटेंट से दी जाएगी। दरअसल, राज्य के सभी प्रारंभिक एवं माध्यमिक विद्यालयों में मुख्यमंत्री विद्यालय सुरक्षा कार्यक्रम पिछले कई वर्षों से चल रहा है। वर्ष 2022-23 की आपदाओं में कोरोना संक्रमण को भी शामिल किया गया है। इसी के मद्देनजर समग्र शिक्षा की वार्षिक कार्य योजना एवं बजट के तहत मौजूदा शैक्षणिक सत्र में विद्यालय सुरक्षा के साथ ही कोरोना संक्रमण से बचाव की भी जानकारी शिक्षकों को दी जाएगी।

असंगबा चुबा आओ ने सभी जिलों के जिला शिक्षा पदाधिकारियों को निर्देश दिया है कि जिलास्तरीय मास्टर प्रशिक्षकों का दो दिवसीय प्रशिक्षण 12 अगस्त तक एवं शिक्षकों का एक दिवसीय प्रशिक्षण सह उन्मुखीकरण 30 सितम्बर 2022 तक सुनिश्चित करें। उन्मुखीकरण में सरकारी विद्यालयों के सभी शिक्षक शामिल होंगे। प्रशिक्षण के दौरान कोविड प्रोटोकॉल का कड़ाई से पालन करने का भी निर्देश दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.