राज्य के सभी मेडिकल कॉलेजों में मिलेगा सस्ता भोजन, सरकार कर रही यह काम

खबरें बिहार की जानकारी

बिहार के सभी मेडिकल कॉलेजों में अब सस्ता भोजन मिलेगा। स्वास्थ्य विभाग के साथ समझौता पत्र पर हस्ताक्षर (एमओयू) के बाद तीन माह में सभी मेडिकल कॉलेज अस्पतालों में दीदी की रसोई (कैंटीन) खुलेगी।

जीविका समूह के मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी (सीईओ) राहुल कुमार के अनुसार स्वास्थ्य विभाग व जीविका समूह के बीच समझौता पत्र पर हस्ताक्षर होगा। इसके लिए स्वास्थ्य विभाग के साथ समन्वय स्थापित किया जा रहा है। जल्द इस दिशा में कार्रवाई की जाएगी। अगले तीन माह में सभी मेडिकल कॉलेज अस्पतालों में दीदी की रसोई का संचालन शुरू किया जाएगा। बताया कि दीदी की रसोई के संचालन को लेकर बिजनेस प्लान तैयार कर लिया गया है, अलग-अलग मेडिकल कॉलेज अस्पतालों में मानव संसाधन (मैनपावर) की आवश्यकता, पूंजी के निवेश इत्यादि का आकलन करने के बाद इसे क्रियान्वित किया जाएगा।

मेडिकल कॉलेज अस्पतालों में भोजन की थाली का दर तय होगा

सूत्रों ने बताया कि मेडिकल कॉलेज अस्पतालों में मरीजों, उनके परिजनों व कर्मियों की वास्तविक स्थिति का आकलन करने के बाद भोजन की थाली का दर तय किया जाएगा। अस्पताल प्रशासन व जीविका समूह दोनों मिलकर दर का निर्धारण करेंगे। वर्तमान में जिला अस्पतालों व अनुमंडलीय अस्पतालों में संचालित दीदी की रसोई में प्रति व्यक्ति 150 रुपये की दर से राशि ली जाती है। जबकि हाल ही में मानसिक आरोग्यशाला, कोईलवर के लिए किए गए समझौते के तहत 157.03 रुपये प्रति व्यक्ति की दर से भोजन उपलब्ध कराने का निर्णय लिया गया है।

मेडिकल कॉलेज अस्पतालों में दीदी की रसोई के अतिरिक्त अन्य कोई कैंटीन खोलने की अनुमति नहीं होगी। पीएमसीएच में फिलहाल प्रति मरीज भोजन के लिए सौ रुपए की राशि दी जाती है। सूत्रों ने बताया कि राज्य के 51 जिला व अनुमंडलीय अस्पतालों में दीदी की रसोई का संचालन किया जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग के दिशा-निर्देश पर राज्य के सभी मेडिकल कॉलेज अस्पतालों में भी इसके विस्तारित किए जाने को लेकर तैयारी की जा रही है। दीदी की रसोई के माध्यम से मेडिकल कॉलेज अस्पतालों में मरीजों, उनके परिजनों व अस्पताल कर्मियों को भोजन की सुविधा दी जाएगी।

पीएमसीएच प्रशासन जगह देने को तैयार

पटना मेडिकल कॉलेज अस्पताल (पीएमसीएच) के अधीक्षक आईएस ठाकुर ने बताया कि अस्पताल परिसर में जीविका दीदी की रसोई के लिए स्थान तय कर दिया गया है। जीविका समूह की ओर से पहल किए जाने के साथ ही अस्पताल परिसर में दीदी की रसोई शुरू कर दी जाएगी। हमें जीविका समूह की पहल का इंतजार है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.