राज कुंद्रा के दफ्तर की दीवार में मिला ‘सीक्रेट लॉकर’, क्रिप्टोकरंसी से जुड़े कागजात और कई फाइलें जब्त

Entertainment

पॉर्न फिल्‍म केस मामले में राज कुंद्रा की पुलिस कस्‍टडी 27 जुलाई तक के लिए बढ़ा दी गई है. हर दिन इस मामले नै खबर आती रहती है. बिजनेसमैन राज कुंद्रा के तार पोर्नोग्राफी केस में कितने और कहां तक जुड़े हैं, इसकी जांच मुंबई क्राइम ब्रांच की टीम तेजी से कर रही है. राज कुंद्रा केस के खुलासे के बाद कई मॉडल्‍स आगे आई/आये हैं और उनका कहना है कि राज ने उन्‍हें अपनी ऐप के लिए अप्रोच किया था जिसमें बोल्‍ड कॉन्‍टेंट शामिल था. आज केस से जुड़ा एक बड़ा अपडेट आया है.

अश्लील फिल्मों के कथित निर्माण और उन्हें कुछ ऐप के जरिए प्रसारित करने से जुड़े मामले में राज कुंद्रा के ऑफिस पर मुम्बई पुलिस ने फिर से छानबीन की थी. शनिवार को हुई इस छानबीन में एक छिपा हुआ लॉकर मिला है, जिसमें कई सारे कागजात हैं, पुलिस ने इनको जब्त कर लिया है. बता दें कि मजिस्ट्रेट कोर्ट ने कुंद्रा की पुलिस हिरासत शुक्रवार को 27 जुलाई तक के लिए बढ़ा दी थी.

मुम्बई पुलिस की क्राइम ब्रांच ने शनिवार को एक बार फिर से मुंबई के अंधेरी में स्थित राज कुंद्रा के वियान और जेएल स्ट्रीम ऑफिस में तलाशी की थी. राज कुंद्रा के खिलाफ पुलिस को अहम सबूत मिले हैं, जो पुलिस की दलील को मजबूत कर रहे हैं. इस दौरान दीवार में छिपी हुई एक ‘खुफिया अलमारी’ पुलिस के हत्थे लगी है. क्राइम ब्रांच के सूत्रों के मुताबिक, अलमारी से कई फाइलें बरामद की गई हैं, जिसमें वित्तीय आदान-प्रदान से संबंधित और क्रिप्टो करेंसी से जुड़ी अहम जानकारियां हैं.

इस अलमारी से पुलिस के हत्थे कई फाइलें लगी हैं, जिसके जरिए पुलिस इस केस में कई राज फाश कर सकती हैं.यहां पुलिस ने एक लॉकर को जब्त किया. बताया गया है कि इस लॉकर को दफ्तर में छिपाकर रखा गया था. इसमें बिजनेस, क्रिप्टोकरंसी से जुड़ बहुत सारे कागजात बरामद हुए हैं. फिलहाल क्राइम ब्रांच इनका अध्यन कर रही है.

राज कुंद्रा की पत्नी शिल्पा शेट्टी से पूछताछ के बाद क्राइम ब्रांच इस मामले में आर्थिक गड़बड़ी के एंगल की भी जांच कर रही है. क्राइम ब्रांच को ऐसी आशंका है कि राज कुंद्रा ने कथित पॉर्न मूवीज बनाकर काफी पैसा कमाया, जिसे उन्होंने क्रिकेट बेटिंग और क्रिप्टोकरंसी में लगा दिया.

अभिनेत्री शिल्पा शेट्टी के पति, कुंद्रा को शहर की पुलिस की अपराध शाखा ने 19 जुलाई की रात को गिरफ्तार किया था. इससे पहले उनके खिलाफ भारतीय दंड संहिता की संबंधित धाराओं और सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया था.

पुलिस ने कहा था कि 45 वर्षीय कारोबारी अश्लील सामग्री के निर्माण एवं बिक्री की अवैध गतिविधि से आर्थिक लाभ कमा रहे थे. पुलिस ने दावा किया कि उसने कुंद्रा का मोबाइल फोन जब्त किया है और इसमें मौजूद सामग्रियों की जांच जरूरी है और साथ ही उनके कारोबारी सौदों एवं लेन-देन को भी देखना होगा.

कुंद्रा के अलावा, पुलिस ने दूसरे आरोपी रयान थोरपे को भी अदालत में पेश किया. अदालत ने उसकी हिरासत की अवधि भी 27 जुलाई तक बढ़ा दी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.