रेलवे स्टेशन पर काउंटर कम रहने से बढ़ी परेशानी, मात्र दो काउंटरों के सहारे चल रहा है आरक्षण केंद्र

खबरें बिहार की

बिहार के दरभंगा जंक्शन पर स्थित आरक्षण केंद्र पर काउंटरों की संख्या कम रहने से यात्रियों की परेशानी बढ़ गयी है। फिलहाल मात्र दो काउंटरों के भरोसे आरक्षण टिकट बनाने का काम किया जा रहा है। इससे खासकर वरिष्ठ नागरिक, महिला व दिव्यांग यात्रियों को अधिक परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

बता दें कि गत अप्रैल माह में इस आरक्षण काउंटर से 14 हजार से अधिक यात्रियों ने आरक्षण टिकट लिया था। इससे रेलवे को 84 लाख से अधिक रुपए की आमदनी हुई। वैसे दरभंगा जंक्शन के आरक्षण केंद्र पर यात्रियों को मात्र दो टिकट काउंटर के सहारे छोड़ दिया गया है। रेल प्रबंधन की इस नजरअंदाजी से यात्रियों में काफी आक्रोश है।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार जंक्शन के आरक्षण टिकट केंद्र पर प्रथम शिफ्ट में मात्र दो काउंटर खुलते हैं। इसी तरह दूसरी शिफ्ट में भी मात्र दो काउंटरों के सहारे यात्रियों को छोड़ दिया जाता है। पीआरएस यानी आरक्षण टिकट केंद्र में कर्मियों की घोर कमी है। इसी की वजह से यहां टिकट काउंटरों की संख्या बढ़ाई नहीं जा रही है। फलस्वरूप समस्तीपुर रेल मंडल का ए वन दर्जा प्राप्त दरभंगा जंक्शन पर आरक्षण टिकट लेने को लेकर पहुंचने वाले यात्री कम टिकट काउंटर होने से हलकान हो रहे हैं।

जंक्शन पर गत वर्ष भी थे चार काउंटर


विगत वर्ष भी दरभंगा जंक्शन के आरक्षण टिकट केंद्र पर चार काउंटरों के सहारे यात्रियों को आरक्षण टिकट दिया जा रहा था, पर इधर कई महीनों से मात्र दो काउंटर खोलकर यात्रियों को भारी परेशानी में छोड़ दिया गया है। पहले जंक्शन पर दोनों शिफ्टों में चार-चार आरक्षण काउंटर का संचालन हुआ करता था। समय के साथ यात्रियों की भीड़ बढ़ती गई तो काउंटर की संख्या बढ़ने के बजाय कम होती चली गई।

यात्रियों को संसाधनों का नहीं मिल रहा लाभ
मौलिक सुविधाओं की कमी से जूझ रहे यात्रियों को दरभंगा जंक्शन पर उचित संसाधनों का लाभ भी नहीं मिल पा रहा है। जंक्शन पर आरक्षण टिकट केंद्र पर पहुंचने वाले वरिष्ठ नागरिक, महिला व दिव्यांग यात्रियों को भारी असुविधा का सामना करना पड़ रहा है। पूर्व में उनके लिए विशेष काउंटर की व्यवस्था होती थी जो इन दिनों नहीं है।

इस संबंध में पूछने पर समस्तीपुर रेल मंडल के डीआरएम आलोक अग्रवाल ने कहा कि काउंटर पर टिकट बिक्री के हिसाब से संख्या बढ़ाई-घटाई जाती है। मैं दरभंगा जंक्शन के आरक्षण केंद्र के आंकड़े को देखता हूं। यात्रियों के हित में जैसा संभव होगा वैसा किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.