खगौल-बिहटा एयरपोर्ट एलिवेटेड कॉरिडोर के लिए रेलवे पर टिकीं उम्मीदें

खबरें बिहार की

पटना :  दानापुर रेलवे स्टेशन, बिहटा में प्रस्तावित अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा और एयरपोर्ट एलिवेटेड कॉरिडोर निर्माण के लिए भी रेलवे की जमीन का ही आसरा है। रेलवे यदि राज्य सरकार को जमीन दे तो सहजता से एलिवेटेड कॉरिडोर का निर्माण हो जाएगा। अगर रेलवे से जमीन नहीं मिलती तो निजी जमीन के अधिग्रहण की नौबत आएगी। निजी जमीन अधिग्रहण की प्रक्रिया में एयरपोर्ट एलिवेटेड लंबी अवधि तक अटक जाएगा। ऐसे में रेलवे से यदि जमीन मिल जाएगी तो काम तेजी से शुरू हो जाएगा। वहीं, शिवाला के बाद बहुत कम रकबे में निजी जमीन के अधिग्रहण की जरूरत होगी।

पथ निर्माण विभाग ने एयरपोर्ट एलिवेटेड कॉरिडोर के लिए अपने इंजीनियरों के माध्यम से एक सर्वे कराया है। यह सर्वे मुख्य रूप से एलायनमेंट और जमीन की उपलब्धता को लेकर था। इस सर्वे में यह बात सामने आई कि वर्तमान में खगौल से बिहटा एयरपोर्ट तक जाने वाली सड़क का एलायनमेंट है। उसी एलायनमेंट पर एलिवेटेड सड़क बनाया जाना सबसे अधिक उपयुक्त है। वर्तमान सड़क से सटे रेलवे की कुछ जमीन है। शिवाला के पहले तक की यह जमीन अगर रेलवे एयरपोर्ट एलिवेटेड कॉरिडोर के लिए उपलब्ध करा देता है तो कोई परेशानी नहीं होगी।

विभागीय सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बिहटा एयरपोर्ट एलिवेटेड कॉरिडोर को लेकर दूसरी योजना यह भी है कि सगुना मोड़ से ही इसे शुरू कर दानापुर रेलवे स्टेशन की ओर ले जाने के बजाए दूसरे रास्ते से शिवाला होते हुए बिहटा ले जाया जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.