रक्सौल- नरकटियागंज रेलखंड पर 5 अगस्त सेपरिचालन शुरू कर दिया जायेगा, कोसी को मिलेगी नयी रेल लाइन की सौगात

खबरें बिहार की

समस्तीपुर रेल मंडल के रक्सौल- नरकटियागंज व बिरौल-हरनगर रेलखंड पर पांच अगस्त से परिचालन शुरू कर दिया जायेगा. सीआरएस ट्रायल के बाद इन दोनों रेलखंडों पर परिचालन शुरू करने की तिथि रेलवे ने तय कर दी है. पांच अगस्त को मुगलसराय जंक्शन के नये नामकरण के दिन रेल मंत्री और वरिष्ठ भाजपा नेता इस रेलखंड को रिमोट कंट्रोल से मुगलसराय से सीधे परिचालन की विधिवत शुरुआत करेंगे. सीनियर डीसीएम वीरेंद्र कुमार ने बताया कि इसके लिए रेल मंडल ने तैयारी शुरू कर दी है.


कोसी को मिली नयी रेल लाइन की सौगात

कोसी की बहुप्रतीक्षित सुपौल-अररिया रेललाइन की भी इसी दिन आधारशिला रखी जायेगी. 1602 करोड़ की लागत से 92 किलोमीटर लंबी नयी रेल लाइन के तहत 12 नये स्टेशन बनाये जायेंगे. दो नये हॉल्ट की भी स्थापना की जायेगी. इस नयी रेललाइन के बन जाने के बाद अररिया तक रेल नेटवर्क से जुड़ जायेगा. डीडीएन थ्री संजय कुमार ने बताया कि शिलान्या स के बाद इस पर शीघ्र निर्माण कार्य शुरू कर दिया जायेगा.

इस परियोजना के लिए 1605.17 करोड़ रुपए रेल मंत्रालय ने अनुशंसित किये हैं. उधर, रेल मंत्रालय ने इस परियोजना को सरजमीन पर उतारने में राज्य सरकार की मदद मांगी है. मंत्रालय ने परियोजना पर शीघ्र काम प्रारंभ करने के लिए राज्य सरकार से जमीन मांगी है.

सुपौल-अररिया नयी रेल लाइन पिछले लंबे समय से उपेक्षा का शिकार है. वर्ष 2008 में रेल मंत्रालय ने इस परियोजना के लिए 304.41 करोड़ रुपए मंजूर किये थे. लेकिन आगे कुछ नहीं हो सका. परियोजना कागज से आगे नहीं बढ़ पायी. अब मंत्रालय की मंजूरी के बाद इसके निर्माण की उम्मीद जगी है.

 

परियोजना पूरा हो जाने के बाद न केवल सुपौल और अररिया का पूरा इलाका एक दूसरे से रेल नेटवर्क के माध्यम से जुड़ जाएगा बल्कि कोसी और सीमांचल के बीच वैकल्पिक मार्ग भी उपलब्ध होगा. यही नहीं पूर्वोत्तर भारत जाने के लिए भी इसका उपयोग हो सकेगा. नयी रेल लाइन सुपौल के बाद पिपरा, त्रिवेणीगंज, रानीगंज होते हुए अररिया तक जाएगी. आगे यह दूसरे रेलखंड के साथ जुड़ जाएगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.