राहुल गांधी से बिहार कांग्रेस की शिकायत- नीतीश सरकार में कम मंत्री मिला, कम-से-कम चार मिलना चाहिए था

खबरें बिहार की राजनीति

बिहार प्रदेश कांग्रेस ने महागठबंधन सरकार के मंत्रिमंडल में कम हिस्सेदारी मिलने पर नाराजगी जाहिर की है। कांग्रेस विधायक दल के नेता अजीत शर्मा ने कहा कि हमें अनुपात में मंत्रिमंडल में कम सीटें मिलीं। राजद के 4.5 विधायकों पर एक मंत्री, जेडीयू के 3.4 विधायक पर एक मंत्री तो हम के 4 विधायक पर एक मंत्री बने हैं। कांग्रेस के 19 विधायक हैं। 4.45 के अनुपात के हिसाब से कम से कम 4 मंत्री मिलने चाहिए थे। अगर 3+1 का कंबिनेशन होता तो बेहतर होता।

शुक्रवार को दिल्ली में राहुल गांधी से मिलने के बाद पत्रकारों से बातचीत में अजीत शर्मा ने कहा कि अभी एक दलित और मुस्लिम मंत्री बने हैं। एक सवर्ण और बन जाते। इसी समीकरण के आधार पर हमलोग चुनाव जीतते रहे हैं। मैं चाहता हूं कि एक सवर्ण को मंत्री बनाया जाए। वैसे आलाकमान तय करेगा। लेकिन हम चाहते हैं अगड़ी जाति से एक मंत्री बनना चाहिए। चार सितम्बर को दिल्ली के रामलीला मैदान में होने वाली कांग्रेस की रैली के सवाल पर कहा कि बिहार से काफी संख्या में हम लोग जुटेंगे। मोदी सरकार में किसी को रोजगार नहीं मिला। 2024 में कांग्रेस गठबंधन की सरकार बनेगी।

वहीं, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डॉ. मदन मोहन झा ने नई सरकार का बचाव किया। कहा कि कानून व्यवस्था को लेकर बीजेपी जिम्मेवार है। पुरानी सरकार में बीजेपी वालों का प्रभाव था। उसका असर अब भी दिख रहा है। नई सरकार अभी-अभी बनी है। उसे कुछ समय तो दीजिए। शपथ लेते ही सरकार का आकलन शुरू कर दिया गया। इस तरह का अनर्गल प्रचार-प्रसार करने से, बयान देने से कानून व्यवस्था पर असर पड़ता है। मीसा भारती के पति शैलेश कुमार के तेजप्रताप यादव के साथ विभागीय बैठक में भाग लेने पर कहा कि मैंने देखा नहीं है। हो सकता है कि वो कार्यालय में पदभार लेने गए हों। उस दौरान अगर कोई रिश्तेदार चले जाते हैं तो यह अन्यथा बात नहीं है। अगर मैं शपथ लेने के बाद कार्यालय में गया और मेरे साथ परिवार के लोग साथ चले गए तो कोई अन्यथा बात नहीं होती है।

राहुल गांधी से मिले प्रदेश अध्यक्ष

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डॉ. मदन मोहन झा ने कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी से नई दिल्ली में मुलाकात की। उनके साथ विधायक दल के नेता अजीत शर्मा और पंचायती राज मंत्री मुरारी गौतम भी थे। प्रदेश कांग्रेस मीडिया विभाग के चेयरमैन राजेश राठौड़ ने कहा कि बिहार में महागठबंधन सरकार बनने के बाद पहली बार राहुल गांधी से मिले बिहार के तीनों नेताओं ने बिहार के ताजा राजनीतिक घटनाक्रम और परिस्थितियों पर विस्तृत चर्चा की। इन तीनों नेताओं ने राहुल गांधी को बिहार के वर्तमान राजनीतिक घटनाक्रम के बाद उत्पन्न हुई स्थिति से अवगत कराया। साथ में संगठन पर विस्तार से चर्चा की।

Leave a Reply

Your email address will not be published.