पूस की रात ही नहीं, दिन भी सर्द, साल के पहले दिन पछिया हवा ने बढ़ाई गलन; अलाव बना सहारा

खबरें बिहार की जानकारी

नए साल के पहले दिन पारा लुढकने के साथ ही मौसम का मिजाज पूरी तरह बदल गया है। लोग कड़ाके की ठंड से जूझ रहे हैं। पिछले दिनों की अपेक्षा तापमान में लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है। रविवार को नए साल की पहली सुबह पूरा शहर कोहरे की चादर में ढका था। आसमान में धुंध छाए रहे। सड़कों पर दृश्यता कम थी। इस कारण वाहनों की रफ्तार पर भी ब्रेक लग गया था। दोपहर बाद धूप निकलने के बाद भी सर्द हवाओं के कारण लोगों को ठंड से निजात नहीं मिल सकी।

दिन ढलने के साथ ही ठंड का प्रकोप फिर से शुरू हो गया। जिले में शीतलहर के प्रकोप से जनजीवन पूरी तरह अस्त-व्यस्त हो गया है। यहां पूस की रात ही नहीं, दिन भी सर्द रहा। सर्द हवाओं से गलन बढ़ादी।  ठंड के कारण घरों से निकलना दुश्वार है। खासकर, गरीब व मजदूर तबके के लोगों को कामकाज में काफी परेशानी हो रही है। इधर-उधर अलाव जलाते नजर आ रहे हैं। वहीं दूसरी ओर, घरों में हीटर, ब्लोअर आदि इलेक्ट्रानिक उपकरणों का उपयोग किया जा रहा है।

जरूरतमंदों के बीच कंबल वितरण

शीतलहर व ठंड के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए जिला प्रशासन की ओर से जरूरतमंदों के बीच कंबल वितरण किया जा रहा है। शनिवार रात नगर आयुक्त विभूतिरंजन चौधरी, वरीय उपसमाहर्ता निलेश कुमार और सामाजिक सुरक्षा कोषांग के सहायक निदेशक आकाश ने शहर के कर्पूरी बस पड़ाव के समीप आश्रय स्थल में दर्जनों जरुरतमंदों के बीच कंबल वितरण किया। वरीय उपसमाहर्ता निलेश कुमार ने बताया कि जिलाधिकारी के निर्देश पर आपदा प्रबंधन विभाग और सामाजिक सुरक्षा कोषांग के द्वारा जरूरतमंदों के बीच कंबल का वितरण किया जा रहा है।

जिले के विभिन्न प्रखंड और चार बुनियाद केंद्रों में जरूरतमंदों के बीच चार हजार से अधिक कंबल वितरित किए गए हैं। मालगोदाम चौक पर कुष्ठ रोगी, दिव्यांग, भिक्षुक समेत छह दर्जन से अधिक जरूरतमंदों को कंबल दिया गया। सार्वजनिक स्थानों पर जगह- जगह अलाव की व्यवस्था की गई है। सभी अंचलाधिकारी को आपदा के लिए छह लाख रुपये आवंटित किए गए हैं। मौके पर नगर प्रबंधक शफी अहमद, नगर मिशन प्रबंधक रूबी, तहसीन रजा, एएलओ सीमा कुमारी, प्रबंधक संतोष कुमार पासवान, केयर टेकर काजल कुमारी, मिथिलेश कुमार, चंदन कुमार मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.