पूर्णिया यूनिवर्सिटी को मिली MBA कोर्स संचालित करने की मान्यता, नीतीश सरकार ने दी सौगात

प्रेरणादायक

पूर्णिया विश्वविद्यालय को बिहार सरकार से एक बड़ी सौगात मिली है। पूर्णिया विश्वविद्यालय को एमबीए कोर्स संचालित करने के लिए उच्च शिक्षा विभाग से स्वीकृति मिल गई है। उच्च शिक्षा विभाग ने सत्र 2019 -20 में नामांकित छात्र-छात्राओं का रिजल्ट भी जारी करने की अनुमति दे दी है। साथ ही नए सत्र में एमबीए कोर्स में 40 छात्र छात्राओं के नामांकन लेने पर भी सहमति जता दी है।

निदेशक उच्च शिक्षा डा. रेखा कुमारी के हस्ताक्षर से जारी पत्र में सत्र 2019-20 में नामांकित विद्यार्थियों का परीक्षा फल घोषित करने की अनुमति प्रदान की गई है। साथ ही आगे के सत्रों में कुल 40 सीटों पर नामांकन की अनुमति प्रदान की गई। पूर्णिया विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. राजनाथ यादव ने संकायाध्यक्षों की बैठक में राज्य सरकार द्वारा प्राप्त पत्र को सार्वजनिक किया एवं राज्य सरकार एवं उनके आला अधिकारियों के प्रति आभार व्यक्त किया।

पूर्णिया विश्वविद्यालय में सत्र 2019 -20 में एमबीए कोर्स में लगभग 40 छात्र-छात्राओं का नामांकन लिया गया था। नामांकन के उपरांत 1 वर्ष तक पढ़ाई भी हुई। उसके बाद एग्जाम भी हुए, लेकिन एमबीए कोर्स को राज्य सरकार से मान्यता नहीं मिलने के चलते एमबीए के छात्र छात्राओं का प्रथम साल का रिजल्ट प्रकाशित नहीं किया गया। रिजल्ट प्रकाशित नहीं होने के बाद एमबीए कोर्स संचालित करने का पूर्णिया विश्वविद्यालय को राज्य सरकार से मान्यता नहीं मिलने का खुलासा हुआ। इसके बाद से एमबीए के छात्र छात्राएं लगातार आंदोलन पर उतर गए।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.