प्रशासन ने दिया घायलों के बेहतर इलाज व दोषियों पर कार्रवाइ का आश्‍वासन, बचाव अभियान जारी

खबरें बिहार की जानकारी

बिहार के मोतिहारी जिले में शुक्रवार की शाम को एक बड़ा हादसा हो गया। मोतिहारी के रामगढ़वा थाना इलाके में मौजूद एक ईंट-भट्ठी की चिमनी में अचानक विस्‍फोट हो जाने से सात लोगों की मौत हो गई है और 15 घायल हो गए हैं। इसी के साथ 25 लोगों के मलबे में दबे होने की भी आशंका जताई जा चुकी है। मालूम हो कि जिले के रामगढवा थाना क्षेत्र के नरिरगिर में चिमनी भट्ठा के विस्फोट के दौरान जख्मी मजदूरों का बेहतर इलाज के लिए सदर अस्पताल में लाया गया है। वहीं, शवों का भी पोस्टमार्टम कराने के लिए लाया गया है।

अस्‍पताल में कर्मियों की लगाई गई आपातकालीन ड्यूटी

सदर अस्पताल में पुलिस अधिकारी के अलावा जवानों की तैनाती की गई है। यहां सभी कर्मचारियों की अपातकालीन ड्यूटी में लगाई गई है। इस बीच जिला प्रशासन ने दावा किया है कि सभी जख्मी मजदूरों का बेहतर इलाज कराया जाएगा। मोतिहारी की पुलिस ने कहा है कि घटनास्‍थल पर बचाव अभियान अभी जारी है। रक्‍सौल के सहायक पुलिस अधीक्षक व एसडीआरएफ की टीम मौके पर मौजूद है।

भट्ठे में आग लगाने के दौरान हुआ हादसा

गौरतलब है कि इस चिमनी भट्ठे का संचालन आमोर्दई गांव निवासी इरशाद व नुरूल हक पार्टनरशीप में पिछले पांच वर्षो से कर रहे हैं। शुक्रवार को चिमनी भट्ठे पर आग लगाई जा रही थी, जहां ईंट की नई खेप की तैयारी शुरू होने वाली थी। आग लगाने के दौरान कोई चूक होने की वजह से चिमनी फट गया है। हादसे के बाद वहां सैकड़ों की तादात में लोग जमा हो गए। घटनास्थल पर रेस्क्यू टीम भी पहुंच गई, साथ ही दस एंबुलेंस की टीम भी है। भट्ठे में दबे लोगों को निकालने की कवायद जारी है।

घटना की गहनता से होगी जांच, दोषियों पर होगी कार्रवाइ

भट्ठे में मानकों का उल्लंघन के मामले पड़ताल होगी, जिसके चलते इतना बड़ा हादसा हुआ। जिलाधिकारी शीर्षत कपिल अशोक व एसपी डा. कुमार आशीष ने बताया कि सभी बिन्दुओं पर लगातार जांच की जा रही है। जांच के बाद दोषी लोगों पर कार्रवाई की जाएगी। आग लगाने के दौरान टायर का उपयोग करने की भी बात सामने आ रही है। इसकी भी जांच की जाएगी। दोनों अधिकारियों ने बताया कि यह घटना शाम पांच बजे रामगढ़वा थाना से चार किमी उत्तर पूर्व नरीरगिर में मों. इरशाद के चिमनी भट्ठे में आग लगाने के क्रम में हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.