rayan-international-college-murder-case

प्रद्युमन मर्डर केस में सामने आये चौंका देने वाले तथ्य, सुप्रीम कोर्ट में कल होगी सुनवाई

राष्ट्रीय खबरें

गुड़गांव के रेयान इंटरनेशनल स्कूल में पढ़ने वाले छात्र प्रद्युम्न ठाकुर मर्डर केस में पुलिस जांच के दौरान चौंका देने वाले तथ्य सामने आए हैं। हत्या आरोपी बस कंडक्टर अशोक कुमार वारदात से पहले ही टॉयलेट में मौजूद था। उस समय तीन बच्चे और एक माली भी थे।

उनके जाने के बाद अशोक ने प्रद्युम्न के साथ कुकर्म की कोशिश की और उसकी हत्या कर दी।पुलिस सूत्रों के मुताबिक, वारदात के दिन ताइक्वांडो प्रैक्टिस के लिए तीन छात्र अपने कपड़े बदलने के लिए टॉयलेट में पहुंचे थे। उनके साथ स्कूल का एक माली भी मौजूद था। अशोक भी उसी समय टॉयलेट में पहुंचा और माली सहित छात्रों के जाने का इंतजार करने लगा।

जैसे ही चारों लोग बाहर निकले वह प्रद्युम्न के साथ कुकर्म करने की कोशिश करने लगा।इन तीनों छात्रों और माली को इस मामले में मुख्य गवाह माना जा रहा है। हालांकि, प्रद्युम्न का परिवार पुलिस थ्योरी को सिरे से नकार रहा है। उनका कहना है कि इस वारदात में सिर्फ अशोक शामिल नहीं है, इसके पीछे गहरी साजिश है।

प्रद्युम्न के पिता वरुण ठाकुर को भरोसा नहीं हो रहा है कि उसके बेटे को स्कूल बस के कंडक्टर ने मारा है।वहीं, इस केस की जांच के लिए गठित तीन सदस्यीय टीम ने अपनी रिपोर्ट गुड़गांव पुलिस को सौंप दी है। इस रिपोर्ट में रेयान इंटरनेशनल स्कूल की कई कमियां सामने आई है। सबसे बड़ी बात ये कि स्कूल कैंपस में लगे सीसीटीवी कैमरे खराब मिले हैं।

यहां तक की स्कूल बाउंड्री वॉल टूटी हुई है, जिससे अंदर आना-जाना बेहद आसान था।
जानिए, रिपोर्ट में क्या कहा गया है
1- रेयान इंटरनेशनल स्कूल के सीसीटीवी कैमरे खराब थे।

2- ड्राइवर और कंडक्टर छात्रों के टॉयलेट का ही इस्तेमाल करते थे।

3- स्कूल की बाउंड्री वॉल टूटी हुई थी, जिससे स्कूल के अंदर आना जाना बेहद आसान था।

4- स्कूल में काम करने वाले कर्मचारियों का किसी भी तरह का कोई पुलिस वैरिफेकेशन नहीं हुआ था। इस केस की सीबीआई जांच को लेकर घमासान मचा हुआ है। हरियाणा सरकार ने पुलिस से निष्पक्ष जांच का भरोसा दिलाकर सीबीआई जांच से इनकार कर दिया तो प्रद्युम्न के पिता ने मीडिया के बीच आकर कहा कि सरकार को मेरी जगह खुद को रखकर देखना चाहिए।

उन्होंने कहा कि सरकार सच जानने के लिए जांच कर रही है या सच का चेहरा छुपाया जा रहा है। बताते चलें कि रेयान इंटरनेशनल स्कूल में शुक्रवार को दूसरी क्लास में पढ़ने वाले 7 साल के प्रद्युम्न के साथ कुकर्म की कोशिश करने के बाद उसकी गला रेतकर बेरहमी से हत्या कर दी गई थी।

देर रात पुलिस ने इस मामले में बस कंडक्टर अशोक समेत तीन लोगों को हिरासत में लिया था। पुलिस द्वारा पूछताछ में आरोपी अशोक ने अपना जुर्म कबूल कर लिया।

*
गुरुग्राम के रेयान इंटरनेशनल स्कूल के छात्र प्रद्युम्न की हत्या पर सुप्रीम कोर्ट ने स्वत: लिया है। अब इस मामले में रेयाल स्कूल की सुरक्षा को लेकर सुप्रीम कोर्ट में कल सुनवाई होगी। प्रद्युम्न के पिता ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल कर मामले की सीबीआई जांच कराने की मांग की है।

पिता की मांग है कि पूरे मामले की सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में सीबीआई से जांच की जाए। पिता ने याचिका में कहा कि एसआईटी की जांच सिर्फ स्कूल की लापरवाही पर है। लेकिन इस हत्या का सच सामने नहीं आया कि मेरे बच्चे की हत्या के पीछे कौन है और क्यों मारा। इस मामले का कोई भी आरोपी बचना नहीं चाहिए।

इससे पहले सीबीआई जांच के लिए प्रद्युम्न के पिता ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाने का फैसला किया था। प्रद्युम्न के अभिभावक व परिजनों ने सवाल उठाते हुए सीबीआई जांच की मांग की।

प्रद्युम्न के पिता वरुण ठाकुर ने कहा कि 15 मिनट में आखिर कैसे हत्या हो सकती है? इसका जवाब पुलिस क्यों नहीं दे रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.