मंदिर में ताला लगा रात में घर गए पुजारी, सुबह आए तो गायब मिले 2 करोड़ की मूर्ति

खबरें बिहार की

पटना : समस्तीपुर के हसनपुर थाना क्षेत्र के राम जानकी मंदिर, देवधा में स्थापित अष्टधातु की 6 मूर्तियां मंगलवार की रात चोरी हो गईं। मूर्तियों की कीमत करीब दो करोड़ रुपए बताई जा रही है।6 मूर्तियों में 3 बड़ी 3 छोटी मूर्तियां थीं। इसमें श्रीराम की एक बड़ी और एक छोटी, इसी तरह लक्ष्मण की एक बड़ी एक छोटी माता जानकी की भी एक बड़ी एक छोटी मूर्ति शामिल है।

इन मूर्तियों का वजन करीब डेढ़ क्विंटल था। चोरों ने मंदिर के मुख्य द्वार गर्भगृह में लगे 3 तालों को तोड़कर चोरी की। सुबह मंदिर के मुख्य द्वार के दरवाजे का ताला टूटा देख ग्रामीणों ने चोरी की घटना का अंदाजा लगाया। जब मंदिर के अंदर प्रवेश किए तो गर्भ गृह का दरवाजा भी टूटा था। वहीं गर्भ गृह में स्थापित सभी 6 मूर्तियां गायब थीं। ग्रामीणों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। थानाध्यक्ष मधुरेंद्र किशोर एसआई रामाश्रय राम ने मंदिर का जायजा लिया। थानाध्यक्ष ने चोरी की घटना की पुष्टि की। उन्होंने बताया कि छानबीन की जा रही है।

1995 में सकरपुरा गांव स्थित राम जानकी मंदिर की अष्टधातु की 7 मूर्तियां चोरी हो गई थीं। 6 वर्ष बाद ही रामपुर गांव स्थित राम जानकी के दो अलग-अलग मंदिरों से चोरों ने मूर्तियां चोरी कर ली। इसके बाद नयानगर गांव स्थित रामजानकी मंदिर से भी श्रीराम, लक्ष्मण जानकी की अष्टधातु की मूर्तियों को चोरी कर ली गई थी। अभी तक प्रखंड क्षेत्र में करीब 8 करोड़ रुपए की अष्टधातु की मूर्तियां चोरी हो चुकी हैं।

लेकिन, एक को भी पुलिस बरामद नहीं कर सकी है। देवधा के अशोक निषाद, गौतम कुमार प्रभात सिंह ने बताया कि 20 साल पहले लोगों के सहयोग से मंदिर में श्रीराम, लक्ष्मण जानकी की अष्टधातु की 3 छोटी मूर्तियां स्थापित की गई थीं। करीब दस साल पहले पुनः इस मंदिर में ग्रामीणों के सहयोग से ही श्रीराम, लक्ष्मण जानकी की अष्टधातु की 3 बड़ी मूर्तियां स्थापित कराई गई।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.