पटना में डॉक्टर के घर पहुंच पुलिस टीम ने पकड़े थे 3 डकैत, थानेदार समेत पूरी टीम को दिया इनाम

खबरें बिहार की

पटना:  राजधानी पटना के एसएसपी मनु महाराज ने रूपसपुर थानेदार समेत 11 पुलिसकर्मियों को सम्मानित किया है. रूपसपुर में रविवार-सोमवार की रात डॉक्टर के घर हुई भीषण डकैती के दौरान मौके पर पहुंच तीन डकैतों को गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम को यह सम्मान दिया गया है. एसएसपी मनु महाराज ने आज मंगलवार को ही रूपसपुर थानेदार दीपक कुमार समेत उनकी टीम के 11 पुलिसकर्मियों को 10-10 हजार रुपये का इनाम दिया. उन्होंने कहा कि डकैती के दौरान ही आधी रात मौके पर पहुंचने वाली पुलिस टीम पुरस्कार की हकदार है.

मालूम हो कि रुपसपुर में नीति नर्सिंग होम के मालिक डॉक्टर हेमंत कुमार झा के घर बीती रात हुए डकैती की वारदात ने राजधानी में सनसनी फैला दी है. हालांकि डॉक्टर हेमंत की बेटी की बहादुरी की वजह से तीन डकैत पटना पुलिस की गिरफ्त में आ चुके हैं. इसके बाद से लगातार पूरे मामले की जांच जारी है. खुद एसएसपी मनु महाराज भी आज जांच करने रुपसपुर पहुंचे थे.

डॉक्टर बेटी की बहादुरी से पकडे गए डकैत

डॉक्टर हेमंत झा की बेटी डॉक्टर निकिता ने एन मौके पर बहादुरी दिखाई थी, जिस वजह से अपराधी कोई बहुत ज्यादा माल लूटने में कामयाब नहीं हो सके. साथ ही उसकी सूझबूझ से डकैतों को भागना पड़ा, इस चक्कर में तीन डकैत पुलिस के हत्थे भी चढ़ गए.

दरअसल, अपराधियों ने सबसे पहले एक कमरे में सो रही डॉक्टर हेमंत की बेटी डॉ. निकिता को अपने कब्जे में लिया था. घर में किस रूम में कैश और ज्वेलरी रखी है, उसके बारे में पूछा. उसे लेकर अपराधी डॉक्टर हेमंत के कमरे में पहुंचे. इसके बाद एक—एक कर डॉ. हेमंत, इनकी वाइफ और स्टाफ के मुंह और शरीर को बांध दिया था.

यहीं पर डॉ. निकिता ने अपना दिमाग लगाया. बिना डरे उसने कुत्ते के खुले होने की बात कही. अपराधियों को ये एहसास कराया कि वो उधर जाएंगे तो कुत्ता भौंकने लगेगा. अपराधियों ने उसकी बात मान ली और कुत्ते को बांधने के लिए जाने दे दिया. इसी बहाने निकिता नीचे आई और एक पेशेंट का मोबाइल लेकर पहले डायल 100 को कॉल किया. फिर एसएसपी मनु महाराज को कॉल कर पूरे मामले की जानकारी दी.

Source: live cities news

Leave a Reply

Your email address will not be published.