पुलिस की नींद उड़ाकर नर्तकी के साथ आराम फरमा रहा था डकैती का मास्टरमाइंड, फिल्मी अंदाज में गिरफ्तार

खबरें बिहार की जानकारी

शहर के आजाद नगर मोहल्ला में बीते 13 सितंबर की रात को हथियार से लैस सात डकैतों ने एक घर में घुसकर सेवानिवृत्त रेलकर्मी व उनकी पत्नी को बंधक बनाकर करीब दस लाख की संपत्ति की डकैती कर ली थी। इस मामले में पुलिस ने एक महीने के अंदर कार्रवाई करते हुए पांच आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया था। हालांकि, इस डकैती कांड का मास्टरमाइंड पिछले चार महीने से पुलिस की गिरफ्त से बाहर था।

रविवार को पुलिस की टीम ने पूर्वी चंपारण जिले के घोड़ासहन गांव में नहर के किनारे स्थित एक नर्तकी के कमरे से आरोपित को गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार किया गया आरोपित मास्टरमाइंड राहुल सहनी पूर्वी चंपारण जिले के घोड़ासहन थाना क्षेत्र के मिश्रौली गांव का रहने वाला है। आरोपित से पूछताछ करने के बाद पुलिस ने उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया है।

गिरफ्तार आरोपित ने बताए साथियों के नाम

पुलिस सूत्रों ने बताया कि सेवानिवृत्त रेलकर्मी सगीर आलम के घर हुई डकैती की घटना में शामिल आरोपितों में दीपांशु पाण्डेय, राहुल कुमार शर्मा, बुलेट कुमार, शिवलाल कुमार व महम्मद असलम को पुलिस गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है। गिरफ्तार किए गए आरोपितों ने नगर थाने के सब इंस्पेक्टर मंकेश्वर कुमार महतो को बताया था कि पूरे घटना का मास्टरमाइंड राहुल सहनी व पश्चिमी चंपारण जिले के नौतन निवासी चंदन कुमार है।

पश्चिम चंपारण के मंडल कारा में सजा काट रहा एक आरोपित

इसके बाद पुलिस ने जब इन दोनों की खोजबीन शुरू की तो पता चला कि चंदन कुमार एक लूटपाट के मामले में पश्चिम चंपारण के मंडल कारा में बंद है। उसे पुलिस ने रिमांड पर लेने की तैयारी शुरू कर दी। वहीं, राहुल सहनी की गिरफ्तारी को लेकर नगर थानाध्यक्ष ललन कुमार के निर्देश पर पुलिस की टीम पूर्वी चंपारण के घोड़ासहन थाना क्षेत्र के घोड़ासहन गांव स्थित नहर के पास रविवार की तड़के पहुंच गई।

कमरे को चारो तरफ से घेरकर पुलिस ने पकड़ा

इस दौरान राहुल सहनी एक नर्तकी के साथ उसके कमरे में सोया था। इसके बाद पुलिस ने पूरे कमरे को चारो तरफ से घेर लिया। राहुल सहनी के दरवाजा खोलते ही पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार आरोपित ने पुलिस को बताया कि उसे पूर्व में गिरफ्तार आरोपितों ने फोन कर बुलाया और फिर घटना को अंजाम दिलाया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.