PM MODI ने NCC Cadets को संबोधित करते हुए कहा कि आज हमारी वैश्विक पहचान युवा शक्ति के रूप में है. Pakistan का नाम लिये बिना प्रधानमंत्री ने कहा कि वे हमसे 3-3 युद्ध हार चुके हैं, उनके नापाक इरादों पर लगाम लगाने के लिये हमारी सेना को उन्हें हराने में 10 दिन भी नहीं लगेंगे. सेना एक्शन लेना चाहती थी तो पुरानी सरकारें उनको आदेश नहीं देती थी.

PM Modi ने कहा कि संविधान की बातें करनेवाले लोगों को संसद में पास कानून को नकार रही हैं, लेकिन उनको पडोसी देश में अल्पसंख्यकों के साथ हो रहा अत्याचार नहीं दिख रहा है. पीएम मोदी ने कहा कि पड़ोसी देश ने हमारे खिलाफ प्रॉक्सी छेड़ रखा है. उन्होंने कहा कि जिस देश के युवाओं में अनुशासन हो, दृढ़ इच्छाशक्ति हो, निष्ठा हो, लगन हो, उस देश का तेज गति से विकास कोई नहीं रोक सकता.आज का युवा देश बदलना चाहता है, स्थितियां बदलना चाहता है और इसलिए उसने तय किया है कि अब टाला नहीं जाएगा, अब टकराया जाएगा, निपटा जाएगा. हम समस्याओं का समाधान चाहते हैं, उन्हें लटकाए रखना नहीं चाहते। GST हो, गरीबों को आरक्षण का फैसला हो, रेप के जघन्य अपराधों में फांसी का कानून, हमारी सरकार इसी युवा सोच के साथ लोगों की वर्षों पुरानी मांगों को पूरा करने का काम कर रही है.

दशकों पुरानी समस्याओं की सुलझा रही हमारी सरकार के फैसले पर जो लोग सांप्रदायिकता का रंग चढ़ा रहे हैं, उनका असली चेहरा भी देश देख चुका है और देख रहा है. मैं फिर कहूंगा- देश देख रहा है, समझ रहा है. चुप है, लेकिन सब समझ रहा है.
पाकिस्तान ने विज्ञापन में हिन्दुओं का अपमान किया. पाकिस्तान में हिन्दू बहन-बेटियों पर अत्याचार हो रहे हैं. लेकिन वोट बैंक की राजनीति कर रहे लोगों को ये सब नहीं दिखता. CAA पर बोलते हुए पीएम मोदी ने कहा- इस कानून पर विपक्ष वोट बैंक की राजनीति कर रहा है. उनको पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों पर हो रहा जुल्म दिखाई नहीं देता है. आर्टिकल 370 तो अस्थायी था, फिर पिछली सरकार ने उसे हटाने की हिम्मत क्यों नहीं दिखाई? हमें कश्मीर की फिक्र थी इसलिए हमने आर्टिकल 370 को हटा दिया.

ये युवा भारत की सोच है, न्यू इंडिया की सोच है जिसने दिल्ली के 40 लाख लोगों के जीवन से, उनकी सबसे बड़ी चिंता को दूर कर दिया है. हमारी सरकार के फैसले का लाभ हिंदुओं को होगा और मुस्लिमों को भी, सिखों को होगा और ईसाइयों को भी.
आपकी युवा सोच, आपका युवा मन जो चाहता है, वही हमारी सरकार ने किया. आज दिल्ली में नेशनल वॉर मेमोरियल भी है और नेशनल पुलिस मेमोरियल भी. हमने एक तरफ नॉर्थ ईस्ट के विकास के लिए अभूतपूर्व योजनाओं की शुरुआत की और दूसरी तरफ बहुत ही खुले मन और खुले दिल के साथ सभी स्टेक होल्डरों के साथ बातचीत शुरू की. बोडो समझौता आज इसी का परिणाम है.

Sources:-Live News

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here