पीएम मोदी आज किशनगंगा पनबिजली परियोजना का उद्घाटन करेंगे, पाक ने जताई चिंता

राष्ट्रीय खबरें

पटना: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को जम्मू-कश्मीर में जोजिला सुरंग का शिलान्यास करेंगे। करीब 6,800 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाली यह सुरंग एशिया की सबसे लंबी दो तरफा यातायात सुविधा वाली सुरंग होगी। वहीं प्रधानमंत्री बांदीपुरा जिले में 330 मेगावाट किशनगंगा पनबिजली परियोजना का भी उद्घाटन करेंगे।

सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने एक बयान में बताया कि रणनीतिक दृष्टि से महत्वपूर्ण इस सुरंग के बनने से श्रीनगर-कारगिल-लेह के बीच बारहों महीने सड़क संपर्क बनाए रखने में मदद मिलेगी। अभी दोनों जगहों के बीच का रास्ता करीब छह महीने बर्फ से ढके रहने के कारण बंद रहता है। साथ ही अभी जोजिला दर्रे को पार करने में लगने वाला समय साढ़े तीन घंटे से घटकर मात्र 15 मिनट रह जाएगा तथा आवागमन सुगम और सुरक्षित बनेगा।

रिंगरोड परियोजनाओं की भी आधारशिला रखेंगे

प्रधानमंत्री मोदी इस दौरे में शनिवार को ही श्रीनगर और जम्मू में रिंगरोड परियोजनाओं की भी आधारशिला रखेंगे। इस पर 3,884 करोड़ रुपये की लागत आने का अनुमान है। मोदी जोजिला सुरंग पर काम आरंभ किए जाने के उपलक्ष्य में आयोजित कार्यक्रम में शामिल होंगे। यह आयोजन लेह के जीवे-त्साल में होगा। सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी भी इन कार्यक्रमों में मौजूद रहेंगे।

सुरंग में सभी अत्याधुनिक सुरक्षा मानकों का ख्याल

सरकार ने जानकारी दी है कि जोजिला सुरंग में सभी अत्याधुनिक सुरक्षा मानकों और सुविधाओं का ख्याल रखा जाएगा। इसमें ट्रांसवर्स वेंटिलेशन प्रणाली के साथ अबाधित बिजली आपूर्ति, सुरंग में आपातस्थिति में प्रकाश की सुविधा, सीसीटीवी से रिकॉर्डिंग, अधिक ऊंचाई के वाहनों की पहचान, सुरंग रेडियो प्रणाली, ट्रैफिक जाम से जुड़े उपकरण और विविध प्रकार के संदेश संकेतक इत्यादि शामिल होंगे।

आपात टेलीफोन सहित अन्य सुविधा भी

इसमें हर 250 मीटर पर पैदल पारपथ, हर 750 मीटर पर वाहन पारपथ और किनारे खड़े होने की सुविधा भी होगी। साथ ही हर 125 मीटर पर इसमें आपात टेलीफोन और अग्निशमन उपकरणों की भी सुविधा होगी।

श्रीनगर रिंगरोड 42.1 किलोमीटर लंबी

श्रीनगर रिंगरोड 42.1 किलोमीटर लंबी होगी। यह पश्चिम श्रीनगर में गलंदर को सुंबल से जोड़ेगी। साथ ही श्रीनगर से करगिल और लेह के लिए एक नया मार्ग भी उपलब्ध कराएगी जो यात्रा के समय को कम करेगा। इसकी लागत 1,860 करोड़ रुपये होगी।

जम्मू की रिंगरोड 58.25 किलोमीटर

जम्मू की रिंगरोड 58.25 किलोमीटर लंबी होगी। यह पश्चिमी जम्मू में जगती को रायामोड़ से जोड़ेगी। इसकी लागत 2,023.87 करोड़ रुपये होगी। इसके रास्ते में आठ बड़े पुल, छह फ्लाईओवर, दो सुरंग और चार डक्ट होंगे।

किशनगंगा जलविद्युत परियोजना

प्रधानमंत्री शनिवार को कश्मीर घाटी के बांदीपोरा जिले में 330 मेगावॉट किशनगंगा जलविद्युत परियोजना का उद्धाटन करेंगे। इस परियोजना की प्रगति की प्रधानमंत्री कार्यालय द्वारा निगरानी की गई थी। वह शहर की डल झील पर स्थित शेर-ए-कश्मीर कन्वेंशनल सेंटर से इसका उद्घाटन करेंगे।

पाक ने किशनगंगा परियोजना के प्रस्तावित उद्घाटन पर चिंता जताई

पाकिस्तान ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा जम्मू कश्मीर में 330 मेगावाट किशनगंगा पनबिजली परियोजना के शनिवार को प्रस्तावित उद्घाटन पर चिंता जताई है। पाकिस्तान ने कहा कि दोनों देशों के बीच विवाद सुलझे बिना इसका उद्घाटन सिंधु जल संधि का उल्लंघन होगा।

सुरक्षा के कड़े इंतजाम

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शनिवार को जम्मू कश्मीर के तीनों क्षेत्रों के दौरे से पहले शहर में त्रिस्तरीय सुरक्षा बंदोबस्त किया गया है। कार्यक्रम स्थल के आसपास सुरक्षा कड़ी कर दी गई है और इस पर अवरोधक लगाए गए हैं क्योंकि अलगाववादियों ने शनिवार को ‘लाल चौक चलो’ का आह्वान किया है। यातायात पुलिस द्वारा जारी परामर्श के अनुसार, कार्यक्रम स्थल तक जाने वाले सभी मार्गों को शनिवार दोपहर तक बंद कर दिया गया है जब तक प्रधानमंत्री शहर  में रहेंगे।

मीरवाइज ने कहा, मोदी हमारे ‘मन की बात’ सुनें

हुर्रियत कॉन्फ्रेंस के उदारवादी धड़े के अध्यक्ष मीरवाइज उमर फारूक ने ट्वीट किया, मोदी, सभी लोग कुछ साल से आपकी ‘मन की बात’ सुनते आ रहे हैं। चूंकि शनिवार को आप आ रहे हैं। हम कश्मीरियों को लाल चौक पर शांतिपूर्वक ढंग से इकट्ठा होने दें ताकि आप हमारे ‘मन की बात’ सुनें। यह बस तीन शब्द हैं : कश्मीर विवाद का समाधान।

Source: live hindustan

Leave a Reply

Your email address will not be published.